आई-लीग का अनुभव रोमांचक और सुखद आश्चर्य से भरा: जैक्सन सिंह

नई दिल्ली। फीफा अंडर-17 विश्व कप में भारत के पहले गोल स्कोरर रहे जैक्सन सिंह के लिए हीरो आई-लीग फुटबॉल टूर्नामेंट में अब तक का सफर “रोमांचक और सुखद आश्चर्य से भरा” रहा है। हालांकि इस लीग में वह अभी अपने गोल का खाता नहीं खोल सके हैं। लीग में अपने अनुभव को बताते हुए जैक्सन ने कहा कि लीग का अनुभव रोमांचक और सुखद आश्चर्य से भरा रहा है। मैदान पर देश के कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ खेलना मेरे लिए गर्व की बात है।

Jackson Singh
Jackson Singh

उन्होंने कहा की लीग का स्तर बहुत ऊंचा है और ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो वाकई अपने पैरों के स्विंग के साथ मैच के नतीजे को बदल सकते हैं और ऐसे खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना निश्चित रूप से बड़ी चुनौतियों में से एक है। लीग में अपने ऊपर गोल करने के दबाव को दरकिनार करते हुए उन्होंने कहा कि मिडफील्डर के रूप में मेरा काम स्थिति के अनुसार खेलना है।यदि मुझे स्कोर करने का मौका मिलता है तो मैं इसे ले लूंगा, लेकिन स्कोर करने के लिए मुझ पर कोई दबाव नहीं है।