दो किशोरियों की निर्मम हत्या से दहला शहर

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले में आज दो किशोरियों की एक साथ लाश मिलने से हड़कंप मच गया। किशोरियों की हत्या धारदार हथियार से गला काट के की गई। दोनों किशोरियों की लाशें जिले के नवाबगंज थाना क्षेत्र के इस्माईलपुर गांव के पास बहराइच इलाहाबाद स्टेट हाईवे पर मिली। लाश मिलने की खबर पाते ही पुलिस हरकत में आ गई और मौके पर पहुँच लाशें कब्जे में लेकर आस पास के गांव के लोगो से शिनाख़्त करवाना चालू कर दिया।

घटना की सूचना पुलिस मुख्यालय मिलते ही जिले के तेज़ तर्रार एसपी सुधीर कुमार सिंह आनन् फानन में मौके पर पहुँचे । उनके साथ फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वायड टीम भी मौके पर पहुच घटना के तह तक जाने में जुट गई।काफी प्रयास के बाद भी लाशों की शिनाख़्त नहीं हो पाई। कयास यह भी लागया जा रहा है कि किशोरियों के डबल मर्डर के इस सनसनीखेज काण्ड में किशोरियों की हत्या से पहले दुराचार भी किया गया होगा। हालांकि लाशें अकड़ चुकी थी, जिससे यह भी अंदाज़ा लागया जा रहा है कि इन किशोरियों की हत्या कई घंटे पहले व कही दूर करके लाशें यहाँ ठिकाने लगाई गई है।

निर्दयता के साथ धारदार हथियार से गला काटकर मौत के घाट पंहुचाई गयी दो किशोरियों की यह लांशे गोण्डा जिले के सीमावर्ती गांव इस्माईलपुर में गोण्डा – इलाहाबाद स्टेट हाइवे के बगल एक खेत में मिली हैं। यह गांव जिले के पूर्वी छोर पर नवाबगंज थानाक्षेत्र में बस्ती व फैज़ाबाद जिलों की सीमा पर स्थित है। किशोरियों की लाशों की स्थिति से यह अंदाज़ा लगता है कि इनकी हत्या कई घण्टे पहले व कंही दूर की गयी है। हत्या करने के बाद हत्यारों ने यह लाशें जिले के सीमावर्ती गांव इस्माईलपुर में ठिकाने लगाकर फरार हो गए।

घटना की खबर पर जंहा थाना पुलिस मौके पर पंहुच लाशों का शिनाख्त कराने में जुटी है वंही जिले के एसपी सुधीर सिंह फोरेंसिक लैब वैन व डॉग स्क्वॉयड टीम के साथ मौके पर पंहुच गए। दोनों टीमें किशोरियों की इस डबल मर्डर मिस्ट्री की गुत्थियां सुलझाने में जुट गयी। दिल दहला देने वाले इस सनसनीखेज सामूहिक हत्याकांड के बारे में बताते हुए जिले के एसपी सुधीर सिंह कह रहे हैं कि लाशें अकड़ी हुयी हैं जिससे यह अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि किशोरियों की हत्या कंही और की गयी है व काफी पहले की गयी है। वे बोले की लाशों के शिनाख्त के लिए आसपास के अनेकों जिलों में इनकी फोटो भेजकर कराया जा रहा है इसके लिए यह लांशे तीन दिन तक सुरक्षित रखी जाएँगी।

हत्या से पूर्व किशोरियों के साथ दुराचार किये जाने के प्रश्न पर एसपी बोले की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने तक दावे के साथ कुछ भी नहीं कहा जा सकता। फिलहाल किशोरियों के इस सामूहिक दुर्दान्त हत्याकांड ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सपा सरकार के महिलाओं की सुरक्षा के दावों की एक बार फिर से धज्जियाँ उड़ा दी हैं। इस मर्डर मिस्ट्री ने यह भी सिद्ध कर दिया की वास्तव में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के शासन पर अपराधियों, बालात्कारियों व हत्यारों का शिकंजा हावी है।

विशाल सिंह, संवाददाता