दासारी नारायण राव को बॉलीवुड की श्रद्धांजलि

मुंबई। तेलुगू फिल्मों के विख्यात फिल्मकार और अभिनेता दासारी नारायण राव के निधन की खबर से बॉलीवुड में भी शोक का माहौल छा गया। 75 वर्षीय दासारी नारायण राव को सीने में दर्द की शिकायत के बाद विगत 4 मई को हैदराबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया था और पिछले एक सप्ताह से उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। मंगलवार देर शाम अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली।


सबसे ज्यादा फिल्मों का निर्देशन करने के लिए ‘लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड’ में नामजद रहे दासारी नारायण राव का बॉलीवुड से भी रिश्ता रहा है। खास तौर पर जीतेंद्र को लेकर उन्होंने 80 और 90 के दशक में कई फिल्में बनाईं। दासारी के निधन पर जीतेंद्र ने शोक जताते हुए कहा कि ये उनकी पारिवारिक क्षति है। भारतीय सिनेमा ने एक शानदार व्यक्तित्व को खो दिया। उनकी कई फिल्मों के हिन्दी रीमेक करने वाले बोनी कपूर के अलावा जावेद अख्तर, राकेश रोशन, ऋषि कपूर, शबाना आजमी सहित बॉलीवुड के कई सितारों ने दासारी के निधन पर शोक जताया है।
80 और 90 के दशक में दासारी नारायण राव ने हिन्दी में अपनी कई फिल्मों को रीमेक किया। हिन्दी में उनकी पहली फिल्म ‘स्वर्ग-नरक’ थी, जिसमें संजीव कुमार थे और ये फिल्म 1978 में बनी थी और उनकी आखिरी फिल्म 1993 में बनी ‘संतान’ थी, जिसमें जीतेंद्र और काजोल की प्रमुख भूमिकाएं थीं। इस दौरान दासारी ने 40 से ज्यादा फिल्मों को हिन्दी में रीमेक किया, जिनमें से आधे से ज्यादा फिल्मों के हीरो जीतेंद्र रहे। उनकी फिल्म ‘वफादार’ में हीरो रजनीकांत थे।

उनकी चर्चित फिल्मों में राजेश खन्ना के साथ बनी फिल्म ‘आज का एमएलए रामवतार’ का नाम शामिल था, जो एक राजनैतिक पृष्ठभूमि पर बनी थी और फ्लॉप रही थी।