शाहजहांपुर में हुआ तहसील दिवस का आयोजन

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में एक नई तहसील बनने के बाद आज उस तहसील में तहसील दिवस मनाया गया। जिसमें डीएम राम गणेश एसडीएम जलालाबाद एसपी सिंह और इसके अलावा एसपी और केबी सिंह भी मौजूद रहे। इस तहसील दिवस पर इस क्षेत्र की जनता काफी खुश नजर आई। साथ ही बङी तादाद में शिकायतें भी मिली। कुछ शिकायतों का डीएम ने मौके पर निस्तारण किया तो कुछ शिकायतों को निपटाने के जल्द से जल्द आदेश दिए। वहीं लोगो का कहना है कि नई तहसील बनने के बाद उन लोगो को बहुत ज्यादा आराम हो गई है जब ये तहसील नही बनी थी तब उन्हे पैंतीस किलोमीटर दूर जाना पङता था क्योंकि कलान जलालाबाद तहसील में आता था।

%e0%a4%b6%e0%a4%be%e0%a4%b9%e0%a4%9c%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%a4%e0%a4%b9%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%b2-2

दरअसल शाहजहांपुर जिले में अब तक चार तहसीलें थी। लेकिन अब पांच हो गई है। कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शाहजहांपुर जिलों को एक नई तहसील देने का अनमोल तोहफा दिया था। जिसके बाद यहां के डीएम ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी थी उसके बाद कलान तहसील के आफिस का उद्घाटन डीएम द्वारा किया गया और अटकलों पर विराम लग गया। नई तहसील बनते ही डीएम राम गणेश ने एसडीएम हरीश शंकर और तहसीलदार कृष्ण मुरारी को कलान तहसील का अधिकार बना दिया। उसके बाद कलान क्षेत्र का कामकाज कलान तहसील से ही शुरू कर दिया गया। जिन लोगों को चालिस से पचास किलोमीटर देर चलकर जलालाबाद तहसील आना पड़ता था अब उनका काम घर से कुछ दूर चलने के बाद ही हो जाता है जिससे जनता काफी खुश नजर आ रही है। लोग का कहना है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने कलान वासियों को अनमोल तोहफा दिया है। जो कभी भूल नहीं सकते। कलान तहसील बनने के बाद यहां अब विकास होने की उम्मीद जग गई है।

कलान तहसील में आज पहला तहसील दिवस मनाया गया। जिसमे डीएम राम गणेश और एसपी केबी सिंह पहुचे इसके साथ ही क्षेत्र के सभी छोटे अधिकारी कलान तहसील पर मौजूद रहे। तहसील को पूरी तरह से सजा दिया गया था। डीएम राम गणेश के पहुचते ही उनका स्वागत माला पहनाकर किया गया और उसके बाद भारी तादाद में इस क्षेत्र की जनता अपनी अपनी शिकायतें लेकर तहसील कलान पर पहुचने लगी। देखते ही देखते वहां पर सैकड़ों की तादाद में लोग अपनी शिकायत लेकर पहुंच गए। जिसके बाद सभी को डीएम ने एक एक कर सुना और उनकी शिकायत को जल्द से जल्द निपटाने के निर्देश दिए। और कुछ शिकायतें ऐसी थी जो तत्काल निपटा दी गई जिससे लोगो में काफी खुशी देखने को मिली। लोगो की माने तो इससे पहले उन्हे पैंतीस किलोमीटर दूर जलालाबाद बाद तहसील जाना पड़ता था तब कलान उस तहसील में आता था। लेकिन अब उन्हे इतनी दूर जाने की जरूरत नही है ये सरकार द्वारा कलान वासियों को एक अनमोल तोहफा दिया गया है जो वह कभी भूल नहीं सकते।

%e0%a4%b6%e0%a4%be%e0%a4%b9%e0%a4%9c%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%a4%e0%a4%b9%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%b2-1

वहीं जब डीएम राम गणेश लोगो की शिकायत सुन रहे थे तभी तभी उनकी नजर एक बुजुर्ग महिला पर पड़ी। उसके बाद डीएम ने उस मिला से बात की तो उसने अपना नाम चमेली गुप्ता बताया। उसने अपनी पीड़ा डीएम को बताना शुरू की तो डीएम ने फौरन बुजुर्ग महिला को 11 हजार रूपये की सहायता राशी देने की घोषणा की। बुजुर्ग महिला चमेली गुप्ता बेहद गरीबी की जिंदगी गुजार रही है। उसके पास न तो खेती है और न ही उसका पति जीवित है। एक बेटा है जिसकी शादी हो चुकी वह शादी के बाद से ही अपनी बूढ़ी मां को छोड़कर अलग रहे रहा है जिसका वजह से बुजुर्ग महिला के पास खाने की बङी दिक्कत है जिसको देखते हुए डीएम ने उस महिला को 11 हजार की सहायता राशी देने की घोषणा की इस सहायता राशी मिलने के बाद बुजुर्ग महिला ने कहा कि अब कुछ दिन की रोटी चल जाएगी।

अभिषेक सिंह चौहान, संवाददाता