महिला के जैवर-पैसे लेकर तांत्रिक हुआ फरार

रूढियावादी परम्पराएं आज भी लोगों के दिलों दिमाग में काबिज हैं। किसी की तबियत खराब तो किसी के ऊपर भूत प्रेत। डॉक्टरों के ऊपर विश्वास न करके लोग ऐसे तांत्रिक बाबाओ के चंगुल में फंस जाते हैं की सब कुछ खोने के बाद जब होश आता हैं तब तक बहुत देर हो जाती हैं। ताजा मामला फतेहपुर जिले का हैं। जहां परिवार वालों ने डॉक्टरों पर भरोसा न करके तांत्रिक पर भरोसा किया उस भरोसे पर तांत्रिक ने डाका डालते हुए। पीड़ित की पत्नी जेवर और पैसा लेकर फरार हो गया। पीड़ित अपनी पत्नी को ढूंढ़ने के लिए दर दर की खाख-छान करता रहा मगर पत्नी का कोई अता -पता नहीं मिला। मामला पुलिस तक गया और तहरीर देने के बाद पुलिस ने मामले को दर्ज किया।

उत्तर प्रदेश फतेहपुर जिले के हथगांव थाना क्षेत्र के गड़रियन का पुरवा निवासी कमलेश कुमार की शादी सीता देवी के साथ आठ वर्ष पूर्व हुई थी। दोनों के बीच एक बच्चे का जन्म हुआ। शुरूआती दौर तो अच्छा रहा। मगर कुछ वर्षो के बाद सीता देवी बीमार रहने लगी। इलाज हुआ मगर डॉक्टरों के उपचार से परिजन संतुष्ट नहीं थे। भगवान का पुरवा निवासी अशोक जो की पेशे से तांत्रिक हैं, उससे कमलेश की मुलाक़ात हुई और पत्नी की बीमारी की दास्तां तांत्रिक को सुनाई। पीड़ित के माता पिता अपने पुश्तैनी घर में ही रहते थे।

पीड़ित और पत्नी अलग मकान में रहा करते थे। समय गुज़रता गया और पीड़ित धन के अभाव के चलते कमाने दिल्ली चला गया। घर पर अकेली पत्नी और छोटा बच्चा देखकर तांत्रिक ने अवसर का लाभ उठाते हुए पीड़ित की पत्नी सीता देवी और घर का जेवर नगदी लेकर फरार हो गया। परिजनों को घटना की जानकारी मिलते ही पीड़ित को जानकारी दी गई। पीड़ित के आने के बाद नजदीकी थाने जाकर परिजनों ने तांत्रिक के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर लेकर तांत्रिक अशोक की तलाश शुरू कर दिया।