पत्नी से छेड़छाड़ का विरोध करना बहुत मंहगा पड़ा

फतेहपुर। महिलाओं से जुड़े अपराधों पर चाहे जितने भी सख्त कानून बन जाए लेकिन अगर वो अमल में नहीं आएंगे तो ऐसे कानून किस काम के, ताजा मामला फतेहपुर के थरियांव थाने के बहरामपुर गांव का है। जहां एक दलित युवक को पत्नी से छेड़छाड़ का विरोध करना बहुत मंहगा पड़ गया। गांव के ही युवकों ने धारदार हथियार से उसके कान पर वार कर दिया। जिससे युवक का कान कट गया।

जब पीड़ित मामले की शिकायत करने थरियांव थाने पहुंचा तो पुलिस ने उसकी एक ना सुनी और डांट-डपट कर वापस लौटा दिया। वहीं पाड़ित की माने तो गांव का ही युवक उसकी पत्नी को पिछले काफी वक्त से परेशान करता था। जब पत्नी से इसकी शिकायत अपने पति से की तो पति आरोपी युवक को समझाने उसके पास गया। तब आरोपी युवक ने कुछ भी नहीं कहा लेकिन उसी शाम युवक जंगल से वापस घर लौट रहा था। तभी मौका पाकर आरोपी युवक ने धारदार हथियार कुल्हाड़ी से उसके ऊपर वार कर दिया। जिससे उसका कान कट गया। आरोपी मौके से फरार हो गया

इसके बाद पीड़ित ने पुलिस से मामले की शिकायत को तो पुलिस ने कार्रवाई करने के बजाए पीड़ित को ही थाने से भगा दिया। जिसके बाद से पीड़ित इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर है। वही इस मामले में कुछ भी कहने से अधिकारी कतराते रहे।

मुमताज़ इसरार, संवाददाता