सुशील मोदी खटखटाएंगे लालू के बेटे के खिलाफ चुनाव आयोग का दरवाजा

नई दिल्ली। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा है कि वह जल्द ही केंद्रीय चुनाव आयोग के समक्ष राजद प्रमुख लालू प्रसाद के दोनों बेटों के खिलाफ शिकायत लेकर जाएंगे। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने चुनाव आयोग के समक्ष अपनी संपत्ति का वास्तविक ब्यौरा नहीं दिया है।

बता दें कि बीते बुधवार को यहां भाजपा मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सुशील मोदी ने कहा कि वह पहले भी चुनाव आयोग के समक्ष तेज प्रताप यादव की शिकायत कर चुके हैं । तेजस्वी व तेज प्रताप ने आयोग को अपनी संपत्ति का वास्तविक ब्यौरा नहीं दिया है। कई ऐसी संपत्तियां हैं जिनका ब्यौरा तेजस्वी और तेज प्रताप ने अपना नामांकन पत्र भरते वक्त नहीं दिया था| ऐसे में आयोग से उनकी शिकायत कर दोनों नेताओं की सदस्यता समाप्त करने की मांग करेंगे। इससे पूर्व, मोदी ने जहां लालू को बिहार का राबर्ट वाड्रा करार दिया तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से जानना चाहा है कि बेनामी संपत्ति के आरोपों से घिरे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव व उनके भाई तेज प्रताप यादव के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही।

वहीं भाजपा नेता ने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में जीरों टॉलरेंस की बात करने वाले नीतीश ने अब तक लालू के दोनों बेटों उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की। उन्होंने कहा कि नीतीश पहले कह रहे थे कि अगर लालू के परिवार के खिलाफ बेनामी संपत्ति के आरोपों के पक्ष में कोई सबूत है तो केंद्र कार्रवाई करें। किंतु जब केंद्र सरकार ने कार्रवाई शुरु की तो नीतीश इसे राजनीति से प्रेरित बता रहे हैं।
बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा प्रदेश इकाई पिछले 90 दिनों से लगातार लालू के परिवार की बेनामी संपत्ति का खुलासा कर रही है। दिलचस्प बात ये है कि लालू के परिवार ने बिना किसी व्यवसाय के 125 से ज्य़ादा संपत्ति अर्जित कर ली है।