मुख्यमंत्री को अविलम्ब तेजस्वी को बर्खास्त करने का फैसला लेना चाहिए: सुशील मोदी

पटना। भाजपा नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव से इस्तीफा को लेकर सत्तारुढ़ महागठबंधन में मचे घमासान के कारण शासन-प्रशासन का काम बुरी तरह से प्रभावित है। ऐसे में मुख्यमंत्री को अविलम्ब तेजस्वी को बर्खास्त करने का फैसला लेना चाहिए। मोदी ने शनिवार को यहां कहा कि हास्यास्पद है कि राजद के मंत्री के विभाग के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ भाग नहीं लेकर तेजस्वी ने कार्यक्रम का बहिष्कार नहीं बल्कि मुख्यमंत्री की अवलेहना और अपमान किया है। सीबीआई की छापेमारी के बाद से ही तेजस्वी अपने कार्यालय नहीं गए हैं।

patna, sushil kumar modi, demand, resignation, tejasvi yadav, bihar
sushil modi resignation of tejasvi

वहीं उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद, तेजस्वी और राजद ने जदयू की सभी तीन शर्तों को ठुकरा कर यह साफ कर दिया है कि न तो तेजस्वी इस्तीफा देंगे, न लालू प्रसाद अपनी बेनामी सम्पत्ति का खुलासा करेंगे और न ही सीबीआई, ईडी और इनकम टैक्स द्वारा लगाए गए आरोपों का बिन्दुवार तथ्यात्मक जवाब देंगे।
दूसरी ओर सभी मंत्री के इस्तीफा देने की धमकी देकर राजद ने मुख्यमंत्री की आॅथरिटी को ही चुनौती दे दी है। ऐसे में एक बार गेंद फिर नीतीश कुमार के पाले में आ गयी है।

बता दें कि मोदी का कहना है कि अपेक्षा तो थी कि तेजस्वी यादव अपने ऊपर लगे आरोपों का बिन्दुवार जवाब देते हुए बतायेंगे कि डिलाईट मार्केटिंग को पटना में 3 एकड़ जमीन कैसे मिली? वह जमीन उनके कब्जे में कैसे आई? उस पर बन रहे 750 करोड़ के माॅल के वे मालिक कैसे बने? दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स काॅलोनी का चार मंजिला मकान तथा करीब एक दर्जन कम्पनियों को उन्होंने किस तरह से हासिल किया? मगर उनके पास कोई जवाब नहीं है इसलिए ‘बदले की भावना से कार्रवाई की गई है’ का राग अलाप रहे हैं।