सुरेश कलमाड़ी का ओलम्पिक संघ का आजीवन अध्यक्ष बनने से इंकार

नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल द्वारा भ्रष्टाचार के आरोपी सुरेश कलमाड़ी और अभय सिंह चौटाला को भारतीय ओलम्पिक संघ का आजीवन मानद अध्यक्ष चुने जाने पर जारी की गई चेतावनी के बाद कलमाड़ी ने निर्दोष साबित होने तक पद पर आसीन होने से मना कर दिया है। दूसरी तरफ आईओए अध्यक्ष पद पर अपनी नियुक्ति का विरोध करने पर चौटाला ने गोयल पर उल्टे निशाना साधा और उन्हें अदालत तक खींचने की चेतावनी भी दे डाली। आईओए ने मंगलवार को चेन्नई में हुई वार्षिक आमसभा में कलमाड़ी और चौटाला को सर्वसम्मति से आजीवन मानद अध्यक्ष पद के लिए चुना था।

दोनों नेताओं की नियुक्ति के बाद भारतीय खेल जगत में उथल-पुथल मची हुई है। इसके अलावा खेल मंत्रालय ने बुधवार को आईओए को कारण बताओ नोटिस जारी करने तक की धमकी दे डाली। गोयल ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि “मंत्रालय आईओए में कभी भी भ्रष्टाचार के आरोपियों को स्वीकार नहीं करेगा और इसीलिए एक दिन पहले हुई उनकी नियुक्तियों पर हमने आपत्ति जताई है।”

गोयल ने कहा, “मंत्रालय एक-दो दिन में आईओए को कारण बताओ नोटिस जारी करेगा और सरकार किसी भी सूरत में इस तरह के पदों पर भ्रष्ट लोगों की नियुक्ति को स्वीकार नहीं करेगी।” उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि देश के सभी खेल संघ पारदर्शी तरीके से काम करें और भ्रष्टाचार से मुक्त हों। आईओए कलमाड़ी और चौटाला को नियुक्त कर आखिर क्या संदेश देना चाहती है?”