जयपुरिया चिकित्सालय में शुरू होगी सुपर स्पेशिलिटी सुविधाएं

जयपुर। चिकित्सा के क्षेत्र में सरकार ने एक और कदम आगे बढ़ाया है। सरकार जिले के जयपुरिया चिकित्सालय में सुपर स्पेशलिटी सुविधाएं शुरू करने जा रही है। इसके लिए उचित विशेषज्ञ चिकित्सक लगाने एवं यथाशीघ्र एमआरआई, सीटी स्केन, कैथलेब एवं डायलिसिस की व्यवस्था प्रारम्भ करने के निर्देश दिए हैं। अस्तपाल में 400 के स्थान पर 500 बेड लगाए जाएंगे।
सोमवार को चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने यहां पर मिलने वाली स्वास्थय सुविधाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. राजाबाबू पंवार, जयपुरिया मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजेश शर्मा एवं अधीक्षक डॉ. रेखासिंह, अतिरिक्त प्राचार्य डॉ. सौरभ कक्कड़ सहित जयपुरिया चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्सकों के साथ बैठक आयोजित कर चिकित्सा सुविधाओं की विस्तार से समीक्षा की। 
jaipuria
चिकित्सालय में इस समय 44 नयी टीचिंग फैकल्टी एवं 52 चिकित्सक कार्यरत हैं एवं शीघ्र ही 8 नयी टीचिंग फैकल्टी नियोजित की जा रही है। उन्होंने चिकित्सालय के आउटडोर, इंडोर, प्रसव संख्या, सर्जरी, ब्लड बैंक इत्यादि की समीक्षा की। वर्तमान में चिकित्सालय में प्रतिदिन लगभग ढाई हजार का आउटडोर रहता है। इस वर्ष अब तक चिकित्सालय में 5 लाख 48 हजार 458 मरीजों का ओपीडी में एवं 19 हजार 168 व्यक्तियों का इंडोर उपचार किया गया। चिकित्सालय में इस वर्ष 4 लाख 70 हजार 175 जांचे, 2 हजार 68 सामान्य प्रसव, 966 सिजेरियन प्रसव एवं 4 हजार 817 विभिन्न आॅपरेशन किए गए।