कर्जमाफी के बाद भी नहीं रुक रहा किसानों की आत्महत्या का दौर

पंजाबः  पंजाब के संगरुर में राज्य सरकार द्वारा कर्ज माफी की घोषणा के बाद भी किसानों की आत्महत्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। कर्जमाफी की घोषणा किए हुए मंगलवार को पूरे 20 दिन हो गए हैं। लेकिन किसानों की आत्महत्या करने का सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। पंजाब में अबतक 20 किसानों आत्महत्या कर चुके हैं। आत्महत्या करने वाले किसानों में सबसे ज्यादा किसान मनसा जिले के हैं। जहां  4 किसानों ने अबतक आत्महत्या की हैं।

आपको बता दें कि कर्ज से परेशान होकर सोमवार को पांच किसानों ने पंजाब में आत्महत्या कर ली थी। फिरोजपुर के एक किसान गुरुदेव सिंह ने बैंक के 12 लाख रुपए जमा न कर पाने की वजह से सोमवार को आत्महत्या कर ली थी। जानकारी के अनुसार गुरुदेव सिंह ने अपने ही खेत में जहरीला पदार्थ को पीकर आत्महत्या कर ली। गुरुदेव सिंह की पत्नी परमजीत ने के अनुसार रविवार की रात को 8 बजे गुरुदेव खेत पर गए हुए थे और खेत से जब घर आए तो उनकी तबीयत खराब होने लगी थी। मृतक की पत्नी के अनुसार उन्होंने खेत में ही कोई जहरीला पदार्थ को निगल लिए थे। जिसके बाद उन्होंने तत्काल ही गुरुदेव को अस्पताल गए लेकिन गुरुदेव ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

हालांकि गुरुदेव की पत्नी परमजीत ने बताया कि उनके पास तीन एकड़ की जमीन है और उनका पूरा परिवार ही खेती करता है। गुरुदेव किसानी कर पूरे परिवार का पालन-पोषण करते थे लेकिन कुछ साल पहले ही उन्होंने बैंक से 12 लाख रुपये कर्ज लिया था। लेकिन कर्ज जमा ना कर पाने के कारण काफी परेशान रहा करते थे जिससे रविवार को उन्होंने खेत मे जाकर ही जहर को निगल लिया जिससे उनकी मौत हो गई। फिलहालत पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।