सूफियों ने दिया इंसानियत का पैगाम

रूड़की। विश्वविख्यात अलाउद्दीन अली अहमद साबिर पाक कलियरी के 748वे सालाना उर्स के मौके पर आज ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह अजमेर के गद्दीनशीन सैय्यद ज़ाहिद हुसैन चिश्ती के नेतृत्व में सैकड़ो ज़ायरीनों का जत्था पिरान कलियर पहुंचा। देश-दुनिया में सूफीवाद के माध्यम से इंसानियत का पैग़ाम देने वाले महान सूफी ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती अजमेरी के गद्दीनशीं का इस मौके पर कहना था कि आज पूरी दुनिया में आतंकवाद फैला रहे लोगो का कोई मजहब नहीं है सूफी विचारधारा के अनुयायी इसका हर प्रकार के आतंक का पुरजोर विरोध करते है।

roorki

आगे उनका कहना था कि हम बरेली-देवबंदी मसलक के लोगो को एक करने के हिमायती है इसको लेकर हाल ही में अजमेर से एक सम्मलेन के ज़रिये पहल की गई है जिसमे पूरे देश से चाहे देवबंद से हो या बरेली से उलेमाओ ने भाग लिया था और हमें उम्मीद है कि हमारा ये प्रयास कामयाब होगा।

नोटबंदी पर अजमेर दरगाह के गद्दीनशीं ने खुलकर प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में बोलते हुए कहा कि यह देश की बेहतरी के लिये उठाया गया ऐतिहासिक कदम है ज8सका फायदा आने वाले वक्त में सभी आम हिंदुस्तानियों को मिलेगा।

(शकील अनवर, संवाददाता)