शेयर बाजार: एफएंडओ परिपक्वता से बाजार में उतार-चढ़ाव संभव

मुंबई। देश के शेयर बाजार में अगले सप्ताह जून महीने के वायदा एवं विकल्प (एफएंडओ) सौदे की परिपक्व ता के कारण उतार-चढ़ाव देखी जा सकती है। जून महीन का एफएंडओ सौदा गुरुवार 30 जून को परिपक्व होगा। निवेशकों की नजर इस दौरान मानसून की प्रगति और यूरोपीय संघ (ईयू) से ब्रिटेन के अलग होने (ब्रेक्सिट) से संबंधित स्थिति की स्पष्टता पर टिकी रहेगी। इस दौरान निवेशकों की नजर वैश्विक बाजारों के रूझानों, प्रमुख आंकड़ों, विदेशी पोर्टफोलियो निवेश (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेश (डीआईआई) के आंकड़ों तथा डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल व तेल कीमतों पर भी बनी रहेगी।

Sensex

निवेशक उन कंपनियों और सेक्टरों पर भी गौर करेंगे, जिनका यूरोप और ब्रिटेन के साथ अधिक कारोबार जुड़ा हुआ है, जैसे वाहन, फार्माश्यूटिकल्स और सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग।

जायफिन एडवाइजर्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी देवेंद्र नेवगी ने आईएएनएस से कहा, “यह समझना जरूरी होगा कि विभिन्न देशों के केंद्रीय बैंक और नीति निर्माता तरलता बढ़ाने, मुख्य दरों में कटौती करने और अन्य विकल्पों पर किस प्रकार से प्रतिक्रिया करते हैं। इस तरह के उपाय से बाजार में फिलहाल स्थिरता लाई जा सकती है।”

एसएमसी इनवेस्टमेंट्स एंड एडवाइजर्स के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डीके अग्रवाल ने आईएएनएस से कहा, “आगे शेयर बाजार वैश्विक रूझान से भी प्रभावित होगा। इसके अलावा बाजार मानसून की प्रगति, डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल, विदेशी पोर्टफोलियो निवेश और वैश्विक तेल मूल्यों से भी प्रभावित होगा।”

निवेशकों की नजर अगले सप्ताह मानसून की प्रगति पर बनी रहेगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा जारी मानसून के अनुमान के मुताबिक जून-सितंबर के दौरान मानसूनी बारिश दीर्घावधि औसत की 106 फीसदी रहेगी। प्रचूर मानसूनी बारिश देश की कृषि के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण है। आईएमडी के मुताबिक एक जून से 23 जून 2016 तक मानसूनी बारिश सामान्य से 17 फीसदी कम रही है।

आगामी सप्ताह वाहन कंपनियों के शेयरों पर निवेशकों की निगाह रहेगी। ये कंपनियां शुक्रवार एक जुलाई 2016 से जून में हुई बिक्री के आंकड़े जारी करनी शुरू कर देगी।

आगामी सप्ताह सार्वजनिक तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) पर भी निवेशकों की नजर रहेगी। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियां (ओएमसी) हर महीने के मध्य और अंत में गत दो सप्ताह की वैश्विक तेल कीमतों के आधार पर देश में तेल मूल्य की समीक्षा करती हैं। इस दौरान विमानन कंपनियों पर भी नजर रहेगी। ओएमसी हर महीने के अंत में विमान ईंधन के मूल्यों की भी समीक्षा करती है।

मार्किट इकनॉमिक्स शुक्रवार एक जुलाई को जून महीने के लिए भारत विनिर्माण पर्चेजिंग मैनेजर इंडेक्स (पीएमआई) के आंकड़े जारी करेगी। निक्के ई इंडिया सर्विसेज पीएमआई के आंकड़े मंगलवार पांच जुलाई, 2016 को जारी होंगे।

पुर्तगाल के सिंट्रा में सोमवार 27 जून को यूरोपीय केंद्रीय बैंक (ईसीबी) का केंद्रीय बैंक विषय पर तीन दिवसीय सम्मेलन का आयोजन होगा। सम्मेलन के प्रमख वक्ताओं में ईसीबी अध्यक्ष मारियो ड्राघी, फेडरल रिजर्व अध्यक्ष जेनेट येलेन और बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर मार्क कार्नी शामिल होंगे। सम्मेलन में नकारात्मक ब्याज दर और ब्रेक्सिट जनमत संग्रह का प्रभाव चर्चा के प्रमुख मुद्दे होंगे।

(आईएएनएस)