शिवम मर्डर केस: SSP ने संभाली कमान, ड्रोन कैमरे की मदद से जांच में जुटी पुलिस

मेरठ। सूबे में योगी सरकार आने के बाद भी बदमाशों के सिर से अखिलेश सरकार का भूत उतरने का नाम नहीं ले रहा है। 11 सितंबर सोमवार को जनपद मेरठ के नवीपुर गांव में बदमाशों ने 45 लाख की फिरौती के लिए कक्षा 10 के छात्र का दिन दहाड़े अपहरण कर ईख के खेत में बंधक बना लिया था तथा उसके बाद ग्रामीणों ने जंगल में बच्चे की तलाश शुरू की तो बदमाशों ने पकडे जाने के डर से बच्चे के सीने में गोली मार कर उसकी हत्या कर दी और फरार हो गए।

SSP, handles,hand,Shivam,Murder,case,police,investigation, with help, drone camera,
Shivam Murder case

दरअसल पूरा मामला मेरठ के थाना इंचौली के नवीपुर निवासी शिवम पुत्र रणवीर का है। मृतक शिवम परीक्षितगढ़ के सरस्वती स्कूल में कक्षा 10 का छात्र था। परिजनों के अनुसार बताया जा रहा है कि वह रोजाना साइकिल से ही स्कूल जाता था। सोमवार की दोपहर 3 बजे तक शिवम वापस नहीं लौटा तो उसकी बहन शिखा ने उसके मोबाइल पर कॉल की थी। लेकिन कॉल किसी अंजान व्यक्ती ने उठाई थी। उस व्यक्ती ने शिखा को धमकाते हुए 45 लाख की फिरौती मांगी थी और फिरौती ना देने पर शिवम की हत्या करने की बात कहकर कॉल काट दी। जिसके बाद परिजनों में काफी हड़कंप मच गया साथ ही घटना की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैलती चली गई और शिवम के घर पर सैकड़ो ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। 2 ग्रामीणों ने बताया कि कुछ देर पहले शिवम उन्हें गांव के रास्ते में मिला था। जिसके बाद सैकड़ों ग्रामीण और व परिवार के लोग शिवम की तलाश में जुट गए। इसी दौरान नंगला साहू मार्ग पर अचानक गोली के धमाके की आवाज सुनकर ग्रामीण में अफरा-तफरी मच गई। लेकिन सभी ग्रामीण धमाके की आवाज की दिशा में चलते हुए मौके पर पहुंचे गए। लेकिन तब तक बदमाशों ने शिवम को ईख के खेत में गोली मारकर लहुलुहान कर दिया था। शिवम को खून से लतपत हालत में पड़ा देखकर सबके होश उड़ गए। बदमाशों ने उसकी छाती से सटाकर गोली मारी गई थी। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है तो वहीं जनपद मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने मृतक के परिजनों का ढाढंस बंधाया और जमीन पर बैठकर ही ग्रामीणों के गुस्से को शान्त कराया है। हालांकि एसएसपी के बैठने के लिए ग्रामीणों ने कुर्सी भी बिछाई हुई थी, लेकिन एक समझदार अफसर की यही खूबी होती है की अपने व्यव्हार से सभी लोगों का दिल जीत ले। यही काम एसएसपी मंगल सैनी ने किया है।

वहीं जब एसएसपी के साथ ग्रामीणों की पंचायत में मृतक शिवम के परिजनों से पुछताछ की गई तो उनके द्वारा एक गाय बेचने की बात भी सामने आई है। उन्होंने बताया कि पड़ोस के गांव वालों को एक गाय बेची थी। लेकिन उस गाय कि 3 दिन बाद ही मौत हो गयी। तो खरीदारों ने उनसे अपने पैसो को वापस देने की मांग की थी, शिवम के परिजनों पर पैसों को लौटाने का कई बार दबाव भी बनाया गया था। फिलहाल पुलिस जंगल में बदमाशों के सबूत तलाश करने में जुटी हुई है। इस वारदात में मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने खुद मोर्चा संभाला हुआ है तथा पुलिस ने ईख के खेत में कॉम्बिंग कर दी है और ड्रोन कैमरे की मदद से भी सबूतों को बटोर ने में जुटी हुई है।

SSP, handles,hand,Shivam,Murder,case,police,investigation, with help, drone camera,
brother sourabh

मृतक शिवम के भाई सौरव के मुताबिक बताया गया है कि हम खेत पर थे। उसका स्कूल से आते समय अपहरण कर लिया गया था। जब हम घर आए तो बहन शिखा से पता चला की बदमाश 45 लाख की फिरौती मांग रहे हैं। जैसे ही ये बात ग्रामीणों को पता चला तो फिर गांव वाले सड़क पर पहुंचे और पूछाताछ शुरु कर दी। शिवम को ढुंढते हुए चकरोड की तरफ चले तो अचानक एक गोली चलने की आवाज आई थी। जैसे ही हम सब खेत में पहुंचे तब तक शिवम को गोली लगी चुकी थी।

SSP, handles,hand,Shivam,Murder,case,police,investigation, with help, drone camera,
neighbour deepak

तो वहीं पडोसी दीपक ने बता कि बच्चा स्कूल से आ रहा था, वह 3-4 बदमाश थे। उसके मुंह में कपडा ठूंस दिया और उसके हाथ पांव बांध कर ईख के खेत में ले गए फिर घर उन्होंने घर फोन करके 45 लाख की फिरौती मांगी और अगर नहीं दी तो इसको मार देंगे। घर के सब लोग जंगल में पहुंचे तो उनको गोली की आवाज आई जिस को सुनकर सभी भागे। तब तक उसकी सांस चल रही थी। लेकिन अस्पताल ले जाते समय रस्ते में ही उसकी मौत हो गयी थी। पुलिस कुछ नहीं कर रही है।

SSP, handles,hand,Shivam,Murder,case,police,investigation, with help, drone camera,
SSP handles hand Shivam Murder case

दूसरी ओर मेरठ एसएसपी मंजिल सैनी का कहना है कि यह थाना भावनपुर क्षेत्र की घटना है। एक 16 साल के बच्चे का मर्डर हुआ है। ये स्कूल गया था, इसको 3 बजे तक वापस घर आना था। जिसके बाद परिजनों ने इसके फोन पर सम्पर्क किया था। जिसमें कुछ बदमाशों द्वारा फिरौती मांगी गयी है। कुछ बाते हुई है उसको हम ट्रेस कर रहे हैं, तथा कुछ सुराग भी मिले हैं। परिवार की हैसियत इतनी नहीं है कि फिरौती दे सकें। ये बिना किसी रंजिस का मामला है इसमें सही कार्रवाई की जाएगी। गाय बेचने का मामला अभी परिवार ने बताया नहीं है जो जानकारी मिलेगी उस पर भी कार्रवाई की जाएगी और इस मामले सही तथा बड़ा खुलासा किया जाएगा।