इराक में कैंप स्पीचर नरसंहार के लिए 36 को फांसी दी गई

बगदाद। इराकी प्रशासन ने रविवार को आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के 36 आतंकवादियों को फांसी पर चढ़ा दिया। ये सभी 2014 के कैंप स्पीचर नरसंहार मामले में दोषी पाए गए थे। इस नरसंहार में वायुसेना के लगभग 1,700 कैडेट मारे गए थे। न्याय मंत्रालय ने कहा है, “कैंप स्पीचर नरसंहार के लिए दोषी पाए जाने के बाद 36 कैदियों को नसरिया जेल में फांसी पर चढ़ा दिया गया।”

iraq flag

उल्लेखनीय है कि आईएस के आतंकवादियों ने 12 जून, 2014 को इराकी सुरक्षा बलों पर अचानक हमला बोल दिया और देश के उत्तरी और पश्चिमी क्षेत्र के एक बड़े हिस्से पर कब्जा कर लिया। सरकारी सैनिक अपनी चौकियां और सैन्य उपकरण छोड़कर भाग गए। आतंकवादियों में अधिकांश सशस्त्र सुन्नी लड़ाके थे।

आतंकवादियों ने कथित तौर पर शिया और गैरमुस्लिम कैडेटों को सुन्नियों से अलग कर लिया और कैंप स्पीचर में उन सभी को गोलियों से भून डाला। यह स्थान बगदाद के उत्तर लगभग 170 किलोमीटर दूर तिकरित के उत्तर में है। आईएस ने बाद में वीडियो फुटेज और चित्र पोस्ट किए, जिनमें इराकी सैनिकों की हत्या के दृश्य देखे जा सकते थे।