हरदोई में सपा नेता के बिगड़े बोल

हरदोई। सूबे में सत्ता पलट होने के बाद योगी सरकार लगातार एक्शन में आ रखी है। आए दिन अपराधियों पर नकेल कसने के लिए योगी सरकार नए नए कदम उठा रही है। वही कानून व्यवस्था को भी सूबे में योगी सरकार तबादले भी आए दिन कर रही है। वही योगी सरकार की सख्ताई के बाद अब सूबे में सरकारी अफसर भी सख्त हो रखे रहे हैं। वही सरकारी अफसरों की सख्ताई के बाद अब पिछली सरकार के दबंग नेता के बोल बिगड़ते दिखाई दे रहे हैं।


हरदोई  जनपद में इन दिनों योगी सरकार के प्रसासनिक अफसर बेखौफ होकर सपा नेताओं को एक कर एक अपना निशाना बना रहे हैं। अफसर सपा नेताओं पर कार्रवाई करने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। जहां अखिलेश सरकार में जो नेता प्रसासनिक अमले को अपना करीबी मानते थे और अपने कार्य एक इशारे पर करने की हिम्मत रखते थे तो दूसरी तरफ सत्ता के जाते ही अब उसका उलटा हो रहा है।

अब सपा नेता ही प्रशासनिक अफसरों का निशाना बन रहे हैं। चाहे वो भूमाफियाओं की सूचि हो या फिर गुंडा एक्ट की बात। ऐसे ही मामले से पीड़ित हरदोई के चर्चित सपा नेता व मुलायम सिंह यादव के करीबी पामु यादव जो की हरदोई जनपद की सवायजपुर विधानसभा से सपा के टिकट से 2017 का चुनाव भी लड़ चुके हैं। अब उन्हें ऐंटी भूमाफिया के तहत चिन्हित किया गया है। जिसके बाद अब वह प्रसासनिक कार्रवाई का निशाना बन बैठे हैं। सपा नेता ने सपा कार्यालय पर एक प्रेसवार्ता बुलाकर  प्रशासन को अपनी कार्यशैली ठीक करने के लिए चुनौती भी दे डाली है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए डीएम एसपी के कार्यालय में ताला लगाने की बात बी कही है। अगर इनके ऊपर से मुकदमे नहीं हटाए गए तो वो डीएम एसपी को अपने दफ्तर में बैठने नहीं देंगे। उनका कहना है कि वो अपने साथ दफ्तर में समर्थकों के साथ मिलकर ताला दाल देंगे।