सपा नेता संजय मिश्रा की हत्या का हुआ खुलासा

हरदोई। सपा के पूर्व ब्लाक प्रमुख संजय मिश्रा हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने सोमवार देर रात 3 शूटरों को गिरफ्तार किया है। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों ने पूर्व ब्लाक प्रमुख की सुपारी लेकर हत्या की बात कबूल कर ली है। साजिश बरेली जेल में ही रची गई थी। इस पर पुलिस ने सुभाषनगर के शूटर को उठा लिया। कड़ाई से पूछताछ में उसने राज उगल दिया। घटना में तीन हत्यारोपी बदायूं के थे। इनमें से एक बाइक चला रहा था। दूसरे ने संजय मिश्रा पर गोलियां बरसाईं थीं।

हत्याकांड में चार आरोपी थे। पुलिस ने इन्हें उठा लिया है। जिस असलहे से हत्या की गई पुलिस उसे बरामद करने की कोशिश कर रही है। सूत्रों के मुताबिक हत्याकांड में सुरसा थाने में दर्ज कराई नामजदगी झूठी पाई गई है। एक मास्टर माइंड के इशारे पर पूर्व ब्लाक प्रमुख की हत्या को अंजाम दिया गया। बरेली जिला जेल में साजिश रची गई थी। पुलिस ने सर्विलांस से कुछ नंबर ट्रेस किए हैं। इसमें दो जेलकर्मियों के भी हैं।

आशंका है कि हत्याकांड में जेलकर्मियों की भी मिलीभगत थी।बरेली के नेता की दी थी पांच लाख की सुपारीबरेली में एक नेता की हत्या की पांच लाख रुपए में सुपारी दी गई थी। इसी दौरान नोटबंदी हो गई।