शास्त्री दोबारा बन सकते हैं कोच, गांगुली ने कहा- कोई भी कर सकता है एप्लाई

नई दिल्ली। कप्तान विराट कोहली और अनिल कुंबले के बीच हुए विवाद के बाद कुंबले ने भारतीय टीम के कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था। अभी तक इस मुद्दे पर चुप रहे सलाहकार समिति के सदस्य और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि चैम्पियंस ट्राफी के फाइनल में भारतीय टीम को मिली हार के बाद कोच अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली के बीच ड्रेसिंग रूम में हुए मतभेद को परिपक्व तरीके से निपटाया जाना चाहिए था। गांगुली ने कहा कि कुंबले और कोहली के बीच मामले को बेहतर तरीके से निपटाया जाना चाहिए। इसे बहुत हा उचित तरीके से निपटाने की जरूरत है।

किसी को भी आवेदन करने की इजाजत

आपको बता दें कि भारतीय कोच की नियुक्ति ने एक नया मोड़ ले लिया है क्योंकि टीम के पूर्व निदेशक रवि शास्त्री ने भी इस पद के लिये आवेदन भरने का फैसला किया है और वह इस दौड़ में सबसे आगे दिख रहे हैं जबकि कुंबले को उन पर तरजीह देकर कोच बनाया गया था। शास्त्री ने खुले आम गांगुली को उन्हें बाहर करने का जिम्मेदार ठहराया था। गांगुली ने इस पर कहा कि हर किसी को आवेदन भरने का अधिकार है। हम देखेंगे. मैं भी आवेदन कर सकता था, अगर मैं प्रशासक नहीं होता।

वहीं चैंपियंस ट्रॉफी शुरू होने से पहले कोहली और कुंबले के बीच विवाद की खबरें काफी चर्चा में थी। जानकारी मिली कि कुंबले के सख्त रवैये से कप्तान समेत कुछ खिलाड़ी सहज नहीं थे। पाकिस्तान के हाथों चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में शिकस्त झेलने के बाद कुंबले ने कोच पद से इस्तीफा दे दिया। बोर्ड ने उन्हें वेस्टइंडीज दौरे तक बने रहने को कहा था। हालांकि कुंबले ने विंडीज नहीं जाने का फैसला करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अनिल कुंबले ने ट्वीट करके इसका कारण भी बताया था। उन्होंने लिखा कि बीसीसीआई ने उनको कहा कि टीम के कप्तान को उनकी कार्यशैली को लेकर परेशानी है।