जल्द ही खुले में शौच से होगी दिल्ली मुक्त : केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार सुबह कालकाजी इलाके की जेजे कॉलोनी में बनाए गए 945 टॉयलेट ब्लॉक का उद्घाटन के दौरान कहा कि ‘पूरी दिल्ली में 945 टॉयलेट से सफाई की शुरुआत हो गई है। केजरीवाल ने कहा कि हमारी सरकार ने दो साल में 7 हजार टॉयलेट बनाए। बाकी टॉयलेट के लिए पैसे दे दिए गए हैं। कुछ महीने में दिल्ली खुले में शौच से मुक्त होगी।’

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में अगले 2-3 सालो में सभी झुग्गीवालों को पक्के मकान दिए जाएंगे। जहां झुग्गी है, उसके आस पास पक्के मकान दिए जाएंगे। इसकी पूरी योजना तैयार कर ली गई है। केजरीवाल ने कहा, ‘हमारी पार्टी को अमीरों ने नहीं, बल्कि गरीबों और झुग्गीवालों ने जिताया है। सरकार सबसे पहले उनके लिए काम करेगी।’ शौचालय निर्माण के मामले में अपनी सरकार की उपलब्धि गिनाते हुए केजरीवाल ने कहा, रखरखाव पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है जिसकी बदौलत पहले बने टॉयलेट अब तक अच्छे हैं। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने की फाइल को उपराज्यपाल एक-दो माह में मंजूरी दे देंगे। इसके साथ ही केजरीवाल ने बीएसफ जवान के वायरल वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘हमारे जवानों को पूरी सुविधाएं मिलनी चाहिए। आरोप लगा है कि उनके ऑफिसर करप्शन कर रहे हैं, उसकी भी जांच होनी चाहिए। ‘

इसके साथ ही रैन बसेरों में रहने वाले लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बनाए गए स्किल सेंटर का मंगवार को औपचारिक तौर पर उद्घाटन किया गया। इस समारोह में उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल पहली बार किसी सरकारी समारोह में साथ नजर आए।
सरकार के मुताबिक उन्हें अलग-अलग काम का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यहां बेघरों को इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, मोमबत्ती बनाने, टेलरिंग आदि का काम सिखाया जाएगा। प्रशिक्षण पूरा होने के अगर वे अपना काम शुरू करना चाहेंगे तो सरकार उसके लिए वित्तीय सहायता देगी। तिलक नगर में यह पहला सेंटर है।