इमानदारी की मिसाल, 9वीं क्लास के लड़के ने लौटाए 40 लाख के हीरे

सूरत। गुजरात के सूरत में इमानदारी की एक नई मिसाल देखने को मिली है। जहां एक चौकीदार के बेटे ने 40 लाख के हीरे लौटा दिए। दरअसल एक 15 साल के लड़के को क्रिकेट खेलने के दौरान 700 कैरेट के हीरे मिले घटना बीते 15 अगस्त की है जहां महिधरपुरा में एक युवक को हीरे मैच खेलने के दौरान मिले हीरों का मालिक उन्हें ढूंढने आया तो युवक ने वो हीरे उन्हें लौटा दिए। 9वीं क्लास में पढ़ने वाले विशाल का इमानदारी को देखते हुए हीरों के मालिक ने विशाल को 30 हजार का नकद इनाम दिया। वहीं सूरज हीरा एसोसिएशन ने भी विशाल को 11हजार का इनाम देकर सम्मानित किया।

diamond
diamond

बता दें कि हीरा व्यपारी मनसुख का कहना है कि विशाल ने मेरे हीरे लौटा कर मुझ पर बहुत बड़ा एहसान किया है। मैं उसका बहुत आभारी हूं अगर विशाल ये हीरे मुझे नहीं लौटा तो मेरा बहुत नुकसान हो जाता और लेनदारों का पैसा चुकाने के लिए मुझे मेरा घर गिरवी रखना पड़ता विशाल ने ये हीरे लौटा कर मुझे और मेरे परिवार को बचाया है। बता दें कि विशाल को हीरों का पैकिट पार्क में मिला था जहां क्रिकेट खेलते हुए विशाल की बॉल चली गई थी। जब विशाल बॉल लेने पार्क पहुंचा तो उसे वहां हीरों का पैकिट मिला हीरों का पैकिट उठाकर विशाल घर आ गया और परिवार वालों को बिना बताएं हीरे संभालकर रख दिए।

वहीं विशाल का कहना है कि मैंने सोच लिया था कि मैं हीरे उसके असली मालिक को लौटा दूंगा और तीसरे दिन हीरों का असली मालिक हीरे ढूंढते हुए पार्किंग एरिया आया तो विशाल ने उसका पीछा किया और उन्हें बताया कि हीरे उनके पास है। विशाल की मां कपड़ों में टाके लगाने का काम करती है और भाई अकाउंटेंट का काम करता है। विशाल ने बताया कि एक बार मैच खेलते हुए उसके 50 रूपए खो गए थे जिसकी वजह से उसे पूरी रात नींद नहीं आई थी।

विशाल ने आगे कहा कि मैं समझ सकता हूं जिसके वो हीरे होंगे उसको कितना दुख हुआ होगा। विशाल की इमानदारी के लिए उन्हें इनाम के तौर पर दिए गए पैसों को लेकर जब उससे पूछा गया कि इन पैसों का क्या करोगे। तो उसने कहा कि मैं इन पैसों के अपनी पढ़ाई पर खर्च करूगा मैं अपने माता-पिता को एक बेहतर जिंदगी देना चाहता हूं।