अंधेरा या उजाला, जानें कब आता हैं शारीरिक संबंध का असली मजा

नई दिल्ली। आमतौर पर ऐसा माना जाता हैं कि सेक्स करने के समय कमरे में रोशनी नही होनी चाहिए। ऐसा कई बार इसलिए भी किया जाता हैं क्योकिं कई बार आपका पार्टनर शर्मीला स्वभाव का होता हैं। पर आज हम आपकों बताएंगे सेक्स अंधेरे में करें या उजाले में क्या हैं इसके फायदें।

सेक्स पर रोशनी का प्रभाव
कुछ लोग ये कहते हैं कि अंधेरा या रोशनी का शारीरिक संबंधों पर भला क्या फर्क पड़ता है लेकिन सच ये है कि सेक्स पर रोशनी का भी असर पड़ता है।

रोशनी में आता हैं ज्यादा मजा
महिला और पुरुष दोनों को उत्तेजना के शीर्ष स्तर तक पहुचने में रोशनी की भी एक अहम जगह है। रोशनी में दोनों पार्टनर एक-दूसरे को छूने के साथ-साथ देखते भी हैं, जिससे वो ज्यादा उत्तेजित होते हैं।

मिलती हैं ज्यादा खुशी
कुछ समय पहले हुए एक शोध के मुताबिक, रोशनी में सेक्स करने से उसका मजा बढ़ जाता है। इसकी वजह है कि एक-दूसरे को देखने से पार्टनर के साथ एक अलग ही जुड़ाव बन जाता है।

दिमाग होता हैं टेंशन फ्री

सेक्स में ज्यादा सुख मिलने के साथ-साथ एक और बात जो रोशनी में सेक्स करने को लेकर सामने आई वो ये कि लाइट में सेक्स करने दिल और दिमाग दोनों शांत रहते है।