खुलासा: हनीप्रीत के फिंगरप्रिंस से खुलता था गुफा का दरवाजा, रखा था डेरे का खजाना

साध्वियों के रेप से आरोप में लगातार राम रहीम से जुड़े हुए कई खुलासे हो रहे हैं। इसी कड़ी में डेरे के अंदर सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरने वाली गुफा से जुड़ा हुआ एक मामला सामने आया है। गुफा के बारे में पता लगा है कि इसके अंदर कुछ खास दरवाजे बने हुए थे जोकि सिर्फ हनीप्रीत के फिंगर प्रिंट से ही खुलते हैं। उन दरवाजों के अंदर डेरे का खजाना रखा हुआ था।

ram rahim and honeypreet
honeypreet

सूत्रों के हवाले से खबर है कि डेरे से जब हनीप्रीत फरार हुई थी तब वह खजाना लेकर फरार हो गई थी। पुलिस से पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ है कि फरारी के बाद हनीप्रीत चार दिनों तक सिरसा में ही ठहरी हुई थी और डेरे के अंदर कुछ खास दरवाजे बने हुए हैं जोकि सिर्फ हनीप्रीत के फिंगरप्रिंट से ही खुलते हैं। इस मामले में सीआईडी रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि जिस वक्त वह डेरे से फरार हुई थी तब उसके पास दो बड़े बैग थे। जिसमें हिंसा फैलान के लिए भारी मात्रा में रुपया-धन रखा हुआ था।

पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि हनीप्रीत 25 अगस्त रात 2 बजे करीब सिरसा पहुंची थी और कांग्रेसी नेता की सिक्योरिटी की ढाल बनाकर वह फरार हो गई थी। पुलिस द्वारा खुलासा हुआ है कि पंचकूला में जो हिंसा फैलाने के लिए धन का इस्तेमाल किया गया था कि वह डेरे से ही निकाला गया था। हनीप्रीत ने पुलिस के सामने खुलासा किया है कि डेरे से पैसा कब और किस तरह से मुहैया कराया गया है। इस दौरान हनीप्रीत ने 8 करोड़ रुपए से जुड़ी हुई एक फाइल का जिक्र किया था। सूत्रों के मुताबिक एसआईटी ने उस फाइल को अपने कब्जे में ले लिया है। सूत्रों के अनुसार खबर है कि पुलिस ने यह दस्तावेज राजस्थान के गुरुसर मोडिया में चली कार्रवाई के दौरान जब्त किए हैं।