ट्वीटर छोड़ने से पहले सोनू निगम ने किए 24 ट्वीट, जानिए क्या लिखा

नई दिल्ली। गायक सोनू निगम कुछ दिनों पहले लाउडस्पीकर में अजान पर किए गए ट्वीट को लेकर काफी चर्चा में रहे। इसके लिए सोनू का काफी विरोध भी किया गया और उनकी काफी आलोचना भी की गई। सोनू निगम एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं दरासल बॉलिवुड के मशहूर सिंगर सोनू निगम अब गायक अभिजीत के समर्थन में टि्वटर को अलविदा करने जा रहे हैं। दरअसल, ट्विटर ने गायक अभिजीत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया था। अभिजीत ने जेएनयू छात्रसंघ की नेता शेहला को लेकर राशिद पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

बता दें कि अभिजीत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड किए जाने पर गुस्साए सोनू ने एक के बाद एक 24 ट्वीट किए और लिखा कि मैं ट्विटर को छोड़ने जा रहा हूं। मैं जानता हूं कि मेरे इस फैसले से मेरे करीब 70 लाख फॉलोअर इस बात को लेकर मुझसे निराश और गुस्सा भी होंगे। लेकिन मैं ये भी जानता हूं कि कितने लोग ऐसे होंगे जिनको इस बात से खुशी मिलेगी। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा मैं एकतरफा ढोंगी लोगों को चुनौती देते हुए ट्विटर छोड़ रहा हूं। सभी तार्किक, देशभक्त और मानवतावादी को ऐसा करना चाहिए। सोनू ने कहा कि अभिजीत की भाषा से कोई असहमत हो सकता है। लेकिन शेहला के बीजेपी के सेक्स रैकिट के आरोप कैसी भाषा है। यह समर्थकों को भड़काने के लिए काफी है।

वहीं सोनू का एक अन्य ट्वीट में कहना है कि आप में जो सोए हुए हैं वो जाग सकते हैं। लेकिन जो सोने का ढोंग कर रहा हैं उसे जगाया नहीं जा सकता। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि मैं उस जगह से रिश्ता नहीं रखता जहां कुछ क्षद्म बौद्धिक लोग मेरे खिलाफ फतवा पर आंखें मूंद लेते हैं। अभिजीत ने जेएनयू छात्रसंघ की नेता शेहला राशिद पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इससे पहले इस सिंगर ने मशहूर लेखिका अरुंधति रॉय को लेकर आपत्तिजनक ट्वीट किया था।

साथ ही उस ट्वीट में अभिजीत ने परेश रावल के उस ट्वीट का समर्थन किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि अरुंधती रॉय को कश्मीर में सेना द्वारा जीप में बांध कर घुमाया जाना चाहिए। अभिजीत ने परेश के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा था कि अरुंधति को गोली मार दी जानी चाहिए। मंगलवार को शेहला राशिद के बीजेपी नेताओं के सेक्स रैकेट चलाने के आरोपों वाले ट्वीट्स का जवाब देते हुए उन्होंने शेहला के चरित्र को लेकर आपत्तिजनक ट्वीट किए।

इतना ही नहीं सोनू का कहना है कि उनका ट्विटर के प्रति को दुराग्रह नहीं है। यह एक गेम चेंजर रहा है। यह एक बड़ा प्लेटफॉर्म बन सकता था। लेकिन फिलहाल यह ऐसा है जैसे कि थिअटर में पॉर्न दिखाया जा रहा हो। उन्होंने कहा कि मैं राइट विंग या लेफ्ट विंग नहीं हूं। मैं सभी के विचारों का सम्मान करता हूं। लेकिन मुझे यहां लगता है कि जैसे आप किसी दूसरी जगह के हैं।