सहारा दस्तावेजों को शीला ने किया खारिज

नई दिल्ली। राहुल गांधी द्वारा सहारा डायरियों को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधे जाने के बीच तब एक विवाद शुरू हो गया जब कांग्रेस ने इससे जुड़ी एक सूची ट्विटर पर जारी कर दी जिसमें कांग्रेस नेता शीला दीक्षित का भी नाम कथित तौर पर शामिल है। इसके बाद शीला दीक्षित ने उन दस्तावेजों को तवज्जो नहीं दी। भाजपा ने तत्काल इस मुद्दे पर कहा कि दो मानदंड नहीं हो सकते और राहुल गड़े मुर्दे उखाड़ रहे हैं क्योंकि उच्चतम न्यायालय ने पहले ही मामले को साफ कर दिया है।

sheela-dixit

कांग्रेस द्वारा अपने ट्विटर हैंडल पर सूची सार्वजनिक किए जाने के बारे में पूछने पर शीला दीक्षित ने कहा, इससे मुझे आश्चर्य हुआ। हालांकि उन्होंने कहा कि उनका इस मुद्दे से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने इस संबंध में और आगे बोलने से इंकार करते हुए कहा कि यह मामला न्यायाधीन है। उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि वह इस मुद्दे को पार्टी में उठा सकती हैं। उन्होंने कहा, सूची में कई नाम हैं। तब आप शीला दीक्षित पर क्यों केंद्रित कर रहे हैं। मुझे ऐसी कोई बात याद भी नहीं है। अन्य मुख्यमंत्रियों के भी नाम हैं। आप उनके बारे में क्यों नहीं बात करते? सिर्फ शीला दीक्षित ही क्यों?