धोनी की प्रतिभा पर सवाल उठाने वालों को शास्त्री का जवाब, पहले अपना करियर देखें

नई दिल्ली।  धोनी की उम्र को लेकर उनकी प्रतिभा पर तंज कसने वाले लोगों को भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने एक बार फिर जवाब दिया है। शास्त्री ने धोनी की उम्र को लेकर उनके खेल पर तंज कसने वालों को करारा जवाब देते हुए कहा कि दूसरों को बोलने वाले पहले खुद के करियर को देख लें। आपको बात दे कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीवी एस लक्ष्मण और अजीत अगरकर ने धोनी की फार्म को लेकर कहा था कि अब उनकी उम्र हो चली है। इन दोनों क्रिकेटरों के इस बयान के बाद इन दोनों को धोनी ने तो जवाब नहीं दिया, लेकिन इनकी धज्जियां बाकी के क्रिकेटर्स ने अच्छे से उड़ा दी।

शास्त्री ने कहा कि लोगों को धोनी पर बोलने से पहले अपने करियर को देख लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि धोनी में अभी बहुत क्रिकेट बाकी है और ये टीम का फर्ज बनता है कि वो इस लेजंड क्रिकेटर का समर्थन करे। टीम इंडिया के कोच ने कहा कि मौजूदा टीम का कल्चर प्रदर्शन और क्वालिटी पर आधारित होता है। मैदान पर धोनी से बेहतर कोई नहीं हैं, चाहे वो क्रिकेट के पीछे हो या आगे से उनके बल्ले के प्रदर्शन की बात हो।  शास्त्री ने भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों की तारिफ करते हुए कहा कि फील्डिंग में मौजूदा भारतीय टीम सर्वश्रेष्ठ है और उसकी क्वालिटी पिछली भारतीय टीमों से काफी अलग है।

श्री लंका के खिलाफ इस टेस्ट सीरीज की शुरुआत से पहले कोच शास्त्री ने कहा कि टीम इंडिया हमेशा जीतने के लिए ही जानी जाती है। हम उम्मीद करते हैं साउथ अफ्रीका रवाना होने से डेढ़ महीने पहले इस सीरीज में जीत दर्ज करें। शास्त्री ने कहा कि हार्दिक पंड्या को इस सीरीज में आराम दिया गया है। यह टीम किसी एक खिलाड़ी के बल पर नहीं टिकी है, हम एक-साथ हारते हैं और एक साथ जीतते हैं। शास्त्री ने यहां सर डॉन ब्रैडमैन के 1948 के बल्ले के साथ स्टांस भी लिया। उन्होंने विराट कोहली के बल्ले की तुलना ब्रैडमैन के बल्ले से की।