जानिए: शास्त्री ने हवन के नाम पर कैसे बदला चार लाख का सोना

राजस्थान। राजस्थान के केसरीसिंहपुर गांव में एक तांत्रिक विद्दा का ढ़ोंग करके चार लाख के गहने लेकर फरार हो गया। हालांकि पीड़ित पक्ष ने इसकी जानकारी तुरन्त पुलिस को दी। पुलिस ने तात्रिंक के ऊपर ठगी का मुकदमा दर्ज कर लिया है।


बता दें कि बलविंदर सिंह का कहना है कि उन्होंने घर की सुख शांति के लिए गांव के बगल में ही आये हुए एक शास्त्री से बात की। शास्त्री ने घर पर हवन करने की बात की, घर वाले भी इसके लिए तैयार हो गए। बीते रविवार को हवन शुरु किया गया हवन रात के 10 बजे तक चला जिसके बाद शास्त्री जी ने महिलाओं से घर में रखे हुए सभी गहनों को लाने की बात कही। महिलाओं ने सभी गहनों को एक पोटली में बांधकर शास्त्री जी के सामने रख दिया जिसकी किमत लगभग चार लाख रुपये थी । पोटली को शास्त्री ने हवन के सामने रखने को कहा और पोटली को दो घंटे बाद खोलने को कहकर चला गया।

हालांकि शास्त्री ने दूसरे दिन फिर हवन शुरु कर दिया गहने की पोटली को अपने साथ लाए हुए लाल रंग के कपड़े में रखने को कहा जिसके बाद परिवार वालों ने वैसा ही किया और गहनों को शास्त्री जी के लाल कपड़े में बांध दिया। लेकिन इस बार अंतिम हवन बताकर उसने अपने साथ लाये हुए नकली गहनों से उसे बदल दिया। जब दो घंटे बाद घरवालों ने पोटली खोली तो उसमे नकली घहनो को देखकर वे चौंक गए। जिसकी सूचना परिवार ने पुलिस को दी। लेकिन तब तक आरोपी गांव को छोड़कर फरार हो चुका था।

पुलिस का कहना है कि ज्योतिष के नाम पर इस आरोपी ने कई गांव वालों को चूना लगाया है। शास्त्री ने बकायदा सुभाष मार्केट में अपनी दुकान खोल रखी थी। तांत्रिक पंजाब के आराइया का बताया जा रहा है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है और जल्द ही आरोपी को पकड़ने की बात भी कर रही है।