राम जन्म भूमि पर संशय नहींः उमा भारती

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में जनपद रत्न अलंकरण समारोह में शिरकत करने पहुंची केंद्रीय मंत्री उमा भारती का बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए उमा भारती ने कहा, ”जब मैं रेल मंत्री थी तब मैंने देखा था कि खिलाड़ियों कि उस वक्त क्या दशा थी खासतौर पर दिव्यांगों की दशा बहुत ज्यादा खराब थी, लेकिन वर्तमान में हालातों में काफी सुधार आया है।”

uma-bharti-2

विपक्ष पर किया हमला

मीडिया से बातचीत करते हुए उमा भारती ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए उमा ने कहा ”राहुल अपनी पार्टी के लिए बङे नेता हैं लेकिन मेरे लिए वो इतनी हैसियत नही रखते हैं, कि मैं उनकी बात का जवाब दूं।” सपा बसपा और कांग्रेस की सरकार अब यूपी में आने वाली नहीं है। इस दौरान उन्होंने बीजेपी की पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने का दावा किया। मुस्लिम समुदाय के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा खुशहाल मुसलमान गुजरात का का है और सबसे ज्यादा परेशान मुसलमान यूपी बिहार और बंगाल का है।

uma-bharti

भाषण के दौरान फिसली जुबान

भाषण देते वक्त केंद्रीय मंत्री की जुबान फिसल गई कहा कि अमीर लोग फाईव स्टार होटलों में इलाज कराते हैं हालांकि फौरन उन्होंने अस्पताल का नाम ले लिया था। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात गए थे तब आधा गुजरात बंजर पड़ा था उन्होंने गुजरात को खड़ा किया। लेकिन जब वहां दंगे हुए तो आरोप नरेंद्र मोदी पर लगा कि उन्होंने मुसलमानों का कत्लेआम किया। ऐसा कहकर मुसलमानों के दिलो में डर पैदा किया गया।

जब वहां के सर्वे आए तो पता चला कि सबसे ज्यादा खुशहाल मुसलमान गुजरात में है और सबसे ज्यादा मुस्लिम तुष्टिकरण की की राजनीति यूपी बिहार और बंगाल में हुई। इन जगहों पर मुसलमान गरीब है क्योंकि हम धर्म जाति की राजधानी नही करते हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नेता बनने के लिए तीन चीजे बहुत जरूरी होती है एक स्पेस होना चाहिए इश्यू होना चाहिए और उसमे फिट होने वाले शख्स होने चाहिए। ये तीनों चीजे नरेंद्र मोदी में मेल हो गई। भारत को आजाद होने के बाद जितने भी चुनाव हुए वो या तो इमोशन पर हुए या तो फिर कम्युनिज्म सेक्युलरिज्म के नाम पर चुनाव होते थे। उसके बाद जो डिवीजन हुआ तो पता चला उसमें करप्शन छुप गए भ्रष्टाचार छुप गया विकास होना है या नहीं ये तो बात ही नही होती थी। पहली बार ऐसा हुआ जब आम आदमी की जरूरत को ध्यान में रखकर चुनाव लड़ा गया है। वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया ये है नेता की पहचान।

uma-bharti-3

राम मंदिर पर दिया बड़ा बयान

राम मंदिर पर कहा कि मंदिर मेरा राजनीतिक आस्था नही है जीवन-मरण की की आस्था है। तीनों न्यायाधीश के बेंच ने कहा बीच का स्थान रामलला का है उसके साथ ही हमारे आन्दोलन की वैधनिकता हो गई। और हमारा आन्दोलन सफल हो गया। ये कोई योजना से नही भगवान कि दया से ये एक महान संयोग था कि बेंच के तीन जजों इस देश सभी भावनाओं का समर्थन कर रहे थे। अब बात है कि वहां पर भव्य मंदिर का निर्माण हो लेकिन अभी वहां पर विवाद ये है कि भूमी किसकी है और कोर्ट भी ये कहता है कि ये केस ऐसा है कि ये कोर्ट के बाहर सेटल हो सकता है कोर्ट ने कहा है कि अगर दोनों पार्टियां अगर कोर्ट के बार सेटल कर लेंगी तो कोर्ट भी उसे मान लेगा।

इसलिए कोर्ट के बाहर इस पर दोनों पार्टियां फैसला लेना चाहिए ताकि मामला जल्दी से निपट जाए और जल्द ही भव्य मंदिर का निर्माण हो सकें।
rp_abhishek-singh-chauhan_shahjahanpur-up अभिषेक सिंह चौहान, संवाददाता