शाही इमाम ने हुर्रियत नेताओं को समझाने के लिए पाक पीएम को लिखा पत्र

नई दिल्ली। जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कश्मीर में शांति का माहौल बनाने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने हुर्रियत के नेताओं से बातचीत करने और ‘समझाने’ के लिए कहा है। इमाम बुखारी ने शनिवार को कहा,‘मैंने पाक पीएम को चिट्ठी लिखकर कहा है कि वह कश्मीर मसले पर अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर हुर्रियत नेताओं से बातचीत (समझाने का प्रयास) करें। इमाम बुखारी ने पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि वे हुर्रियत के नेताओं से बातचीत करें। उन्होंने आतंकवादियों से भी हथियार छोड़ने की अपील की है। उन्होंने कहा, ‘मैं हथियार उठाने वाले लोगों से अपील करता हूं कि वे हथियार छोड़ें और बातचीत का माहौल पैदा करें। हिंसा और खूनखराबा कोई हल नहीं है।

Shahi Imam, Prime Minister, Pakistan, Hurriyat leaders, kashmir
Muhammad al-Bukhari

इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार को भी एक पत्र है जिसमें उन्होंने शांति स्थापित करने के लिए जरूरी कदम उठाने की अपील की है।
शाही इमाम ने केंद्रीय गृहमंत्रालय को लिखे अपने पत्र में आग्रह किया कि केंद्र सरकार कश्मीर घाटी में हिंसक माहौल को खत्म करने के लिए तुरंत कदम उठाए और शांति स्थापित करे। उन्होंने अपने में लिखा, ‘कश्मीर में स्थिति दिन-प्रतिदिन हिंसक होती जा रही है। इससे जैसे-जैसे दिन निकलते जा रहे हैं दोनों देशों (भारत और पाकिस्तान) के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। मुझे लगता है कि शांतिप्रिय माहौल बनाने में जितना ज्यादा समय लगेगा, कश्मीर समस्या का हल उतना ही अधिक जटिल होता जाएगा।’

उन्होंने कहा कि इसलिए कश्मीर को बर्बाद होन से बचाने के लिए हमें अपनी बुद्धि और विवेक का सोच-समझकर इस्तेमाल करना चाहिए। इससे घाटी में शांति बहाली का मार्ग बनेगा। कश्मीर की आवाम आतंक और असहायता के साये में जी रही है क्योंकि उन्हें अपने सपने टूटते दिख रहे हैं।’ बुखारी ने कहा, ‘धरती पर स्वर्ग कहा जाने वाले कश्मीर की पहचान कभी खुशहाल जीवन वाली जगह के रूप में थी, लेकिन अब आंसुओं की घाटी बन गई है। हजारों लोग एके-47 के साए में जी रहे हैं।