सह संघचालक जगदीश गगनेजा पर हमला, हालत गंभीर

चंडीगढ़/जालंधर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की पंजाब इकाई के वरिष्ठ नेता ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) जगदीश गगनेजा की हालत गंभीर बनी हुई है और उन्हें रविवार दोपहर लुधियाना के अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। उन्हें जालंधर शहर में गोली मार दी गई थी। गगनेजा को शनिवार शाम को चंडीगढ़ से करीब 150 किलोमीटर दूर जालंधर के भीड़भाड़ वाले ज्योति चौक में तीन गोलियां मारी गई थीं।

jagdish

आरएसएस के वरिष्ठ नेता को भारी सुरक्षा के बीच लुधियाना के हीरो हार्ट डीएमसी अस्पताल में स्थानांतरित किया गया। गोली लगने के बाद पहले उन्हें जालंधर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जालंधर और लुधियाना के अस्पतालों के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। डॉक्टरों ने कहा कि उनके शरीर से दो गोलियां निकाल ली गई हैं, जबकि एक गोली उनके लिवर के पास फंसी है।

पंजाब पुलिस ने सेना के वरिष्ठ अधिकारी पर अज्ञात बंदूकधारियों द्वारा किए गए हमले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया। दक्षिणपंथी नेता और उनकी पत्नी कार में थे। जैसे ही वह कार से बाहर निकले दो नकाबपोशों ने उन्हें गोलियां मार दीं और घटनास्थल से फरार हो गए। उन्होंने लोगों को डराने के लिए हवा में भी गोलियां चलाईं।

मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने हमले की निंदा की है और पुलिस को हमलावरों की खोजबीन के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि हमला राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के उद्देश्य से किया गया था। पुलिस पंजाब में दक्षिणपंथी संगठनों के कार्यालयों के इर्द-गिर्द सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर रही है। आरएसएस और शिवसेना के कुछ नेताओं को पहले ही सुरक्षा दी गई है।