थाने से महज 500 मीटर पर छात्रा की हुई हत्या

बलिया। देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में हाल ही में आई योगा सरकार में भी कानून व्यवस्था कितनी चौपट हो चुकी है, ये देखने को मिला है। जनपद बलिया में जहां बांसडीह थाना अंतर्गत मझौली बजहां गावं में स्कूल जा रही इंटर की एक छात्रा को ग्राम प्रधान के बेटे ने चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर घटना की जांच कर रही है और पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

schoolgirl, murder, only 500 meters,  police station, crime, police, 
schoolgirl murder,

एक तरफ सरकार कहती है की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तो वही दूसरी तरफ बेटिया जब घरों से पढ़ने निकलती है तो हत्यारे उनका गला रेत कर हत्या देते है। बलिया जनपद के बांसडीह थाना अंतर्गत मझौली बजहा गावं में स्कूल जा रही इंटर की एक छात्रा को ग्राम प्रधान के बेटे ने चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी। दरसल मौत की नींद सो चुकी छात्रा हर दिन की तरह अपनी सहेली के साथ स्कूल जा रही थी तभी घात लगाए ग्राम प्रधान के आरोपी हत्यारे बेटे ने उस पर चाकुओं से हमला कर दिया, बताया गया है कि आरोपी युवक कई दिनों से छात्रा के साथ छेड़खानी कर रहा था। एक मासूम छात्रा की मौत की खबर लगते ही पूरे गावं में सनसनी फ़ैल गई। हर कोई घटना स्थल की तरफ दौड़ पड़ा पर मौत से जूझती माशूम छात्रा अपनी जिंदगी की डोर छोड़ चुकी थी। वहीं घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर घटना की जांच शुरु कर दी है।

 

भाजपा की योगी सरकार में बेटियां कितना सुरक्षित है इसे सभी जान रहे है और सब कुछ जग जाहिर भी हो चूका है। बेलगाम प्रशासन के सामने सीना तानकर सरेआम अपराधी अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे है। थाना बांसडीह रोड अंतर्गत मझोली बजहां कि निवासी रागनी इंटर मीडिएट कि छात्रा थी जो कि कई महीनों से छेड़खानी से परेशान होकर पढाई छोड़ चुकी थी लेकिन पुलिस को सुचना के बाद भी हस्तक्षेप न करने पर गांव के पंचों के निर्णय पर आज रागिनी अपनी सहेली के साथ स्कूल के लिए निकली जिसका नतीजा छात्रा को जान गवानी पड़ी। गांव के ग्राम प्रधान का एकलौता लड़का व चचेरा भाई व 2 दोस्तों के साथ लड़की का सरेआम गला काटकर मौत के घाट उतार दिया और लोग तमाशा देखते रहे। इस घटना के घंटो बाद पहुंची पुलिस मृत छात्रा के शव को कब्जे में लेकर अगली कार्रवाई में जुट गई है।

बलिया में दिन-दहाड़े छात्रा की हत्या ने जनपद की क़ानून व्यवस्था पर सवाल तो खड़ा कर ही दिया है तथा 11 अगस्त को बलिया पहुंचने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उन फैसलों पर भी प्रश्न चिन्ह लगा दिया है कि एंटी रोमियों के जरिए प्रदेश की बेटियां सुरक्षित हो गई है।