छेड़छाड़ से परेशान होकर छात्रा ने की आत्महत्या

फतेहपुर। उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में मनचले की छेड़छाड़ से अजीज छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 3 माह पूर्व बीए की छात्रा से गांव का ही रहने वाला एक दबंग युवक ने छात्रा से छेड़खानी कर रहा था। जिस पर छात्रा के परिजनों ने आरोपी युवक के खिलाफ थाने में तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया था और पुलिस ने गिरफ्तार कर आरोपी युवक को जेल भेजने की कार्रवाई की थी। 15 दिन पूर्व जमानत से छूटकर आया आरोपी युवक दोबारा से छात्रा को परेशान करने लगा। जिससे परेशान होकर छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की सुचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और अपनी आगे की जांच में जुट गई।

Schoolgirl, commits, suicide, due to tampering,police, b.a. student, study
suicide

फतेहपुर जनपद के हुसेनगंज थाना क्षेत्र के अचाकापुर गांव की रहने वाली इस छात्रा की फाइल फोटो को देखिये जिसने गांव के दबंग जितेंद्र लोधी के छेड़खानी से परेशान आकर छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्रा की मौत के बाद पुरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है और सब गमजदा हालत में है। मृतक छात्रा वंदनादेवी मुख्यालय स्थित गांव से आकर BA की पढाई कर रही थी, तभी मनचला जीतेन्द्र आये दिन छात्रा के साथ कॉलेज से आते-जाते छेड़खानी किया करता था। लेकिन एक दिन घर में छात्रा को अकेला देख उसने छात्रा के घर में घुसने की भी हिम्मत जुटा ली। फिर मनचले ने घर के अंदर जाकर छेड़खानी करने का प्रयास किया था। किसी तरह छात्रा ने मनचले से अपनी इज्जत बचाई और इस बारे में अपने परिजनों को जानकारी दी। परिजनों ने मनचले के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज करा जेल भेजवा दिया।

3 माह बाद जेल से छूटकर आने के बाद मनचले ने फिर से वही हरकत करनी शुरू कर दी है। जिससे दुखी होकर फिर छात्रा ने मौत को अपने गले लगा लिया। वहीं मृतक छात्रा के परिजनों की मानें तो मनचले से परेशान आकर बेटी की पढाई-लिखाई तक बंद करा दी। लेकिन उसने जेल से आने के बाद अक्सर परेशान करने लगा जिससे बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। हालांकि इस मामले में पुलिस से जब बात की गई तो उनका कहना था, कि यह मामला काफी पुराना है और आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था, जेल से जमानत पर छूटकर आया है, छात्रा ने फांसी लगा आत्महत्या कर लिया है अभी तक मृतक छात्रा के परिजनों की तरफ से कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है, मृतका के परिजनों की तहरीर मिलते ही कार्रवाई की जाएगी। सबसे बड़ा सवाल यह उठता है, कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने एंटी रोमियों टीम का गठन कर मनचलों पर लगाम लगाने का काम किया था, लेकिन मनचलों के अंदर कानून का भय तक नहीं है। अब देखना की बात तो यह है कि क्या अब इस छात्रा को इन्साफ मिलेगा या फिर एक बार मासूम लड़कियां कार्रवाई की जद में दम तोड़ती रहेंगी और ये सब कब तक चलता रहेगा।

वहीं दूसरी तरफ मृतका के पिता की माने तो उनहोंने बताया की मनचले से आजिज आकर बेटी की पढाई तक बंद करा दी है। लेकिन वह जेल से आने के बाद अक्सर परेशान करने लगता है। जिससे अब परेशान आकर बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

जनपद फतेहपुर के ASP विनोद कुमार सिंह से बात की गई तो उनका कहना है, यह मामला काफी पुराने समय से चल रहा है, और आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। लेकिन मनचला जेल से भी जमानत पर छूटकर आया है। छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अभी तक मृतक छात्रा के परिजनों की तरफ से कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई तहरीर मिलते ही सख्त कार्रवाई की जाएगी।