एसबीआई कार्ड को 25 फीसदी वृद्धि दर की उम्मीद

कोलकाता। एसबीआई कार्ड, जो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और जीई कैपिटल के बीच का संयुक्त उद्यम है, ने वर्तमान वित्तवर्ष में अपने आधार में 25 फीसदी की बढ़ोतरी तथा कुल कारोबार में 33 फीसदी की बढ़ोतरी की उम्मीद जताई है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने गुरुवार को यह बात कही। बिना कार्ड के लेनदेन के उद्देश्य से क्रेडिट कार्ड की यह कंपनी होस्ट कार्ड एमूलेशन (एचसीई) तकनीक पर काम कर रही है ताकि उपभोक्ता के आकंड़े उनके मोबाइल फोन पर संग्रहीत किया जा सके।

SBI

इस तकनीक की मदद से क्रेडिट कार्ड से किए जानेवाले लेनदेन के लिए मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया जा सकेगा।

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय जसूजा ने बताया, “हमने कार्ड की संख्या के मामले (कार्ड आधार) में पिछले वित्तवर्ष में 14-15 फीसदी वृद्धि दर हासिल की और हम वर्तमान वित्तवर्ष में 25 फीसदी वृद्धि दर की उम्मीद कर रहे हैं। हमने वर्तमान वित्त वर्ष में 10 लाख से ज्यादा कार्ड जोड़ने की योजना बनाई है।”

क्रेडिट कार्ड इश्यूयर एसबीआई कार्ड की वर्तमान में बाजार हिस्सेदारी 15 फीसदी है और इसके कुल 37.5 लाख उपभोक्ता हैं।

उन्होंने एसबीआई कार्ड एलीट जो एक प्रीमीयम कार्ड है, को जारी करते हुए कहा, “हमने पिछले वित्तवर्ष में उपभोक्ताओं द्वारा किए जाने वाले खर्च में करीब 33 फीसदी खर्च में वृद्धि देखी है और इस साल भी यह वृद्धि दर बरकरार रहने की संभावना है।”

जसूजा ने बताया, कुल पोर्टफोलियो में करीब 85 फीसदी कार्ड आम कार्ड हैं, जबकि बाकी कार्ड प्रीमियम कार्ड हैं।

उन्होंने कहा, “हम एचसीई प्रोद्योगिकी को विकसित करने पर काम कर रहे हैं, ताकि ग्राहकों के कार्ड के आंकड़े उनके मोबाइल फोन में ही संग्रहित किया जा सके, ना कि प्लास्टिक कार्ड में। इस तकनीक के माध्यम से प्रयोक्ता अपने मोबाइल फोन के द्वारा एनएफसी (नीयर फील्ड कम्यूनिकेशन) टर्मिनल के माध्यम से भी लेनदेन कर पाएंगे।”

(आईएएनएस)