अकालीदल और भाजपा ने किया चुनावी समर का आगाज़

मोगा। सूबे में विधान सभा चुनाव को लेकर समर का आगाज हो गया। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की ओर से अपना चुनावी अभियान शुरू कर दिया गया है। अब भाजपा और शिरोमणी अकाली दल ने सूबे के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के जन्मदिवस पर पंजाब के मोगा से अपने चुनावी समर का आगाज किया है। सीएम बादल के 89 वें जन्मदिवस पर मोगा में पार्टी की ओर से एक विशाल सभा का आयोजन किया गया। जिसमें पहले सीएम बादल को जन्मदिवस की शुभकामनांए दी गई इसके बाद बादल ने भी हाथ उठाकर जनता का अभिवादन स्वीकार किया।

Prakash Singh Badal

इस मौके पर पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादब के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष व केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला भी मौजूद रहे। इस रैली को शिरोमणी अकाली दल और भाजपा की ओर से एक नया थीम दिया गया था। जिसका नाम पानी बचाओ, पंजाब बचाओ था। इस नाम और थीम के जरिए रैली में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा गया। मुख्यमंत्री बादल ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस हमेशा सूबे के साथ दोगला व्यवहार करती है।

प्रदेश की किसानी पानी से है, बिना पानी के ना खेती ना अन्न तो आखिर मरा तो किसान और मरी देश की जनता। इसके लिए केवल कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार है। क्योंकि जब एसवाइएल नहर का शिलान्यास करने सीएम इंदिरा गांधी आई थीं। तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आगे बढ़कर स्वागत किया था। आज मगरमच्छी आंसू बहा रहे हैं।संसद से इस्तीफा देने का तो बस नाटक रह रहे हैं। वो जनता को बेवकूफ बनाने का स्वांग कर रहे हैं। आखिरकार कैप्टन को विधानसभा चुनाव लड़ना था तो संसद से इस्तीफा तो देना पड़ता। लेकिन अब अपने इस्तीफे के साथ अन्य विधानसभा के अपने विधायकों से इस्तीफा दिला कर उनको अधर में डाल दिया है।

इसके बाद सभा को सम्बोधित करते हुए डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी नशे की बात कह कर पंजाब के युवाओं को बदनाम करने की साजिश रच रही है। खुद कांग्रेस के आका राहुल गांधी पंजाब में रैली के दौरान कहते थे कि यहां का 70 प्रतिशत युवा नशे का आदी है। लेकिन प्रदेश की पुलिस भर्ती में युवाओं की मोडिकल रिपोर्टों ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के दावों की पोल खोल दी है। इन दोनो पार्टियों ने पंजाब के युवाओं के साथ धोखा किया है। इन्हे इनसे माफी मांगनी चाहिए।