रूस का हर खिलाड़ी दोबारा डोपिंग टेस्ट देने को तैयार: मुतको

मास्को| रूस के खेल मंत्री विताली मुतको ने कहा है कि शीतकालीन ओलम्पिक-2014 में खेल चुका देश का हर खिलाड़ी दोबारा डोपिंग की जांच कराने के लिए तैयार है। समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, मुतको ने कहा, “हमारी टीम वही है। हर खिलाड़ी की व्यक्तिगत प्रोफाइल है और उनका परीक्षण और दोबारा परीक्षण लिया जा सकता है। हम किसी को न ही छुपा रहे हैं न ही बचा रहे हैं।”

vitaly mutko

मुतको ने कहा, “हम इस संबंध में अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) का साथ देने को तैयार हैं, लेकिन विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) के साथ अन्य खेल संस्थाओं को इसकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी।”

सोच्ची ओलम्पिक-2014 में व्यापक पैमाने पर डोपिंग के मामले को लेकर आईओसी के कार्यकारी बोर्ड ने टेलीफोन कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया था और कई सुझाव भी सुझाए थे।

जिसमें से सबसे बड़ा सुझाव शीतकालीन ओलम्पिक में हिस्सा लेने वाले रूस के खिलाड़ियों का दोबारा परीक्षण करवाना था।

मुतको ने कहा कि जब तक आंतरिक जांच खत्म नहीं हो जाती तब तक रूस वाडा की जांच को नहीं मानेगा।

उन्होंने कहा, “इस मामले के बाद हम वाडा के साथ अपने संबंधों के बारे में दोबारा सोचेंगे क्योंकि हमारा मानना है कि इस संगठन को डोपिंग रोधी मामले के लिए जिम्मेदार ठहराना चाहिए।”

मुतको ने कहा, “हम उन पर निर्भर थे, हमने उनके मापदंडों, उनके तंत्र को माना। हमारी प्रयोगशालों और संगठनों को उन्होंने ही मान्यता दी। उन्होंने ही डोपिंग के तंत्र को अपने हाथ में रखा, जिसमें सोच्ची ओलम्पिक भी शामिल है।”

उन्होंने कहा, “अभी तक हम उनकी जांच से सहमत नहीं हैं क्योंकि हमारे पास सत्यापित तथ्य हैं। एक बार जब हमारे कानूनी आधिकारी जांच करेंगे और इन तथ्यों को सही पाते हैं तो हर कोई व्यक्तिगत तौर पर जवाबदेह होगा।”

(आईएएनएस)