रूस ने ईरान से किया सीरिया में हमला, पहली बार ईरानी हवाईअड्डे का इस्तेमाल

मास्को। रूस ने सीरिया के आतंकी ठिकानों पर हमला करने के लिए पहली बार ईरानी हवाईअड्डे का इस्तेमाल किया। रूसी रक्षा मंत्रालय ने मीडिया को यह जानकारी मंगलवार को दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, बमों से भरे हुए लंबी दूरी के रूसी बमवर्षक विमान टीयू-22एम3 और एसयू-34 ने ईरान के हमदन स्थित सीमावर्ती घरेलू हवाईअड्डे से उड़ान भरे और इस्लामिक स्टेट (आईएस) के नुसरा फ्रंट के आतंकी समूहों के अलेप्पो, दीर एज-जोर और इदलीब प्रांतों में स्थित ठिकानों पर हमला किया।

plane

एक बयान में कहा गया कि आतंकी ठिकानों के खिलाफ अभियान को कामयाब बनाने के लिए सीरिया के हमेमिम हवाईअड्डे पर एसयू-30 सीएम और एसयू-35 एस लड़ाकू विमानों को भी तैयार रखा गया है। इसके अलावा ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी इरना ने कहा है कि दोनों देशों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एक-दूसरे के संसाधनों का इस्तेमाल करने का फैसला किया है, साथ ही दोनों देश असद सरकार का समर्थन करते हैं।

मंत्रालय ने कहा कि हथियार, गोला बारूद, ईंधन और लुब्रिकैंट के पांच बड़े गोदामों सहित तीन कमांड पोस्ट और कई प्रशिक्षण शिविर नष्ट कर दिए गए और काफी संख्या में आतंकवादी मारे गए।