राजद ने छापेमारी को बताया केंद्र के बदले की कार्रवाई

पटना। राजद ने पार्टी अध्यक्ष एवं पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद के आवास पर शुक्रवार को सीबीआई द्वारा की छापेमारी केन्द्र में सत्तारुढ़ भाजपा सरकार की बदले की कारवाई बताया है। पार्टी की नजर में केन्द्र सरकार की गलत नीतियों का लालू सबसे मुखर विरोधी ही नहीं रहे हैं बल्कि उसे चुनौती भी देते रहे हैं। इसलिए उन्हें परेशान करने एवं उनके छवि प्रभावित करने के लिए केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

बता दें कि पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन की ओर से शुक्रवार को यहां जारी बयान में कहा कि 2006 के जिस मामले को लेकर केस दर्ज करने की बात हो रही है, उसकी जांच पहले हीं हो चुकी है और पुनः उसी मामले को लेकर एक साजिश के तहत झूठा केश दर्ज किया गया है। रेलवे के होटल को निजी एजेंसियों को देने का फैसला पूर्ववर्ती एनडीए के शासनकाल में ही हुआ था।

साथ ही पार्टी ने कहा कि राजद द्वारा पटना में 27 अगस्त को होने वाली देश बचाओ-भाजपा भगाओ रैली के माध्यम से गैर भाजपा दलों की एकता के लिये लालू की गई पहल से भाजपा बौखला गई है । इसी बौखलाहट में अलोकतांत्रिक और मर्यादाविहीन कदम उठाकर केन्द्रीय एजेंसियों का बेजा इस्तेमाल विरोधी नेताओं को परेशान करने के लिये कर रही है। पार्टी कार्यकर्ता इससे डरने वाले नहीं है। इस चुनौती का मुकाबला वे ताकत के साथ करेंगे और फिर रैली की भी जोरदार तैयारी होगी।