रिजवी बोले- मैं चाहता हूं की वक्फ बोर्ड की सीबीआई जांच हो

उत्तर प्रदेश। राजधानी लखनऊ में शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड के घोटाले में हुई कार्रवाई में शिया वक्फ बोर्ड के 6 सदस्यों को उनके पद से हटा दिया गया है। इस मामले में की जांच को लेकर सियासत एक बार फिर गरमा गई है। वहीं  घोटाले में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद अध्यक्ष वसीम खुलकर सामने आये है,उन्होंने कहा है की में खुद चाहता हूं की इस मामले की पूरी जांच सीबीआई खुद करे,इस बारे में मैंने खुद मुख्यमंत्री योगी जी से वक्फ बोर्ड की जांच करवानो के लिए कहा है। मैंने कोई कब्जा या घोटाल नहीं किया है,सरकार किसी भी स्तर पर जांच करवा सकती है मुझे कोई एतराज नहीं है।

आपको बता दें जांच होती है तो सपा सरकार के पूर्व मंत्री आजम खान पहुंच सकती है,रामपुर की जौहर यूनिवर्सिटी में वक्फ की जमीन की रजिस्ट्री को जौहर यूनिवर्सिटी में शामिल करने में खान की भूमिका की भी जांच हो सकती है। इस जांच में सबसे पहले यूपी सरकरा के मंत्री मोहसिन रजा फंसेंगे,क्योंकि मोती मस्जिद की जमीन पर मोहसिन रजा ने कब्जा किया और वहां अपना घर बनवाया है।

शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने बोला की जांच का होना जरुरी है,क्योंकि सपा के एमएलसी बुक्कल नवाब ने एक ठेकेदार रस्तोगी ने एक प्रॉपर्टी डीलरके साथ मिलकर मस्जिद की जमीनों को बेच दिया था,और फिर हमने नोटिस भेजा तो मुझे बदनाम करने के लिए इसमें घसीटा जा रहा है।