विश्व के लिए परमाणु युद्ध का खतरा बढ़ा, हर हफ्ते परमाणु परीक्षण करेगा नॉर्थ कोरिया

उत्तर कोरिया। अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु युद्ध के हालात पैदा होने से वैश्विक शांति को खतरा हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के राजनयिक किम इन रयोंग ने साफ तौर पर अमेरिका से कहा की उनका देश हर हफ्ते परमाणु परीक्षण करेगा और अगर अमेरिका ने उकसावे की कार्रवाई की, तो वह उस पर परमाणु हमला करने से पीछे नहीं हटेगा। उत्तर कोरिया ने सीधे तौर पर अपने यहां उपजे परमाणु युद्ध के हालात के लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा की अब कभी भी परमाणु युद्ध छिड़ सकता है।

वहीं, अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने सख्ती से कहा की उत्तर कोरिया अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सब्र की परीक्षा न ले, तो अच्छा होगा। दरअसल, अमेरिका हर हाल में उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को बंद कराना चाहता है, लेकिन उत्तर कोरिया पीछे हटने को तैयार नहीं है। ऐसे में दोनो देशो के बीच परमाणु युद्ध होने के पूरे आसार हैं। विशेषज्ञों की माने तो उत्तर कोरिया के खिलाफ अमेरिका अपनी अंतरराष्ट्रीय रणनीति बदल सकता है और किसी भी वक्त उस पर हमला कर सकता है। अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने उत्तर कोरिया को परमाणु और मिसाइल परीक्षण नहीं करने के लिए चेताया भी था।

ट्रंप की चेतावनी को उत्तर कोरिया ने अंदेखा किया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चेता चुके हैं कि अगर चीन उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम में लगाम नहीं लगाता है, तो अमेरिका अकेले ही कार्रवाई करेगा। ट्रंप ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि उत्तर कोरिया पर चीन का बहुत प्रभाव है और या तो चीन उत्तर कोरिया को लेकर हमारी मदद करने का फैसला करेगा या नहीं करेगा। अगर चीन हमारी मदद करने का फैसला करता है तो यह उसके लिए बहुत अच्छा होगा और अगर वह ऐसा नहीं करता है तो यह किसी के लिए अच्छा नहीं होगा।

उत्तर कोरिया पहले भी अमेरिका को दे चुका हैं धमकी

उत्तर कोरिया के उप राजदूत किम इन रयोंग ने कहा कि अगर अमेरिका सैन्य कार्रवाई करता है, तो उत्तर कोरिया किसी भी तरह के युद्ध को तैयार है। उन्होंने कहा कि दुनिया के बड़े हॉटस्पॉट कोरियाई प्रायद्वीप में अमेरिका ने खतरनाक हालात पैदा कर दिए हैं। यह पहली बार नहीं है, जब उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनातनी जारी है। इससे पहले भी अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच कई दफा जुबानी जंग हो चुकी है। इतना ही नहीं, उत्तर कोरिया ने अमेरिका समेत संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को दरकिनार कर पिछले साल दो परमाणु बम और 24 बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया। इतना ही नहीं, उसने इस साल भी कई मिसाइल परीक्षण किए।

उत्तर कोरिया करेगा आर-पार की जंग

अब उत्तर कोरिया अमेरिका के साथ आर-पार की जंग को तैयार है। उत्तर कोरिया के उप विदेश मंत्री हान सोंग रयोल ने कहा कि उनका देश हर हफ्ते, हर महीने और हर साल ज्यादा से ज्यादा मिसाइल परीक्षण करेगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका की ओर से उकसावे की कार्रवाई करने पर आर-पार की जंग होगी।

अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने किया असैन्य क्षेत्र का दौरा

उत्तर कोरिया की ओर से मिसाइल परीक्षण करने के बाद 17 अप्रैल को अमेरिका उपराष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच स्थित असैन्य जोन का दौरा किया। इससे पहले अमेरिका ने सीरिया पर मिसाइल हमला करके और अफगानिस्तान में अपना सबसे बड़ा गैर परमाणु बम गिराकर उत्तर कोरिया को डराने की कोशिश की थी, लेकिन उत्तर कोरिया किसी भी कीमत पर पीछे हटने को तैयार नहीं है। उसने उलटे ही अमेरिका को धमकी दी है की वो उसे सीरिया समझने की भूल न करे, वरना उसको इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।