समीक्षा बैठक कर लिया विकास के कार्यों का मुख्य सचिव ने जायजा

नई दिल्ली। उत्तराखंड अर्बन सेक्टर डेवलपमेंट इंवेस्टमेंट प्रोग्राम के सामान्य निकाय की बैठक मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता सचिवालय में आहुत हुई। इस बैठक में बताया गया कि एडीबी द्वारा ट्रांच एक में 435 करोड़ रूपये और ट्रांच दो में 510 करोड़ रूपये स्वीकृत हुए थे। इसके तहत देहरादून में 70.69 करोड़ रूपये से 68 एमएलडी का सीवर ट्रीटमेंट प्लांट लगाने की योजना है। इससे 2027 तक 6.4 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। इसके साथ ही 126 किमी सीवर पाइप लाइन बिछाने का कार्य भी पूर्ण हो गया है।

इस समीक्षा बैठक में बताया गया कि 41.72 करोड़ रूपये से 15 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पुरूकुल गांव में, 14 एमएलडी शहंशाही में और 7.5 एमएलडी दिलाराम में बनाया गया। इससे 3.5 लाख लोगों को फायदा होगा। इसके अलावा रामनगर में 11 एमएलडी का डब्लूटीपी, 4 ओवरहेड टंकी, 57.3 किमी पाइप लाइन, 7100 घरों को पानी का कनेक्शन 58.5 करोड़ रूपये की लागत से दिया गया है। इससे 1.2 लाख लोगों को लाभ होगा।

इसके अलावा हल्द्वानी में 16 ओवरहेड टंकी, एक जलाशय, 10.6 किमी राइजिंग मेन पाइप लाइन, 2 पम्प हाउस, 19.43 करोड़ रूपये से किया गया है। इससे एक लाख लोगों को फायदा होगा। नैनीताल में 46 पम्पिंग उपकरण, 4 ट्यूबवेल, 107 किमी जल वितरण नेटवर्क, 5 ट्रांसफार्मर, 4 नये पम्प हाउस, 2 नये सम्प टैंक, एक वाटर साफ्टेनिंग प्लांट स्थापित किये गये हैं। रूड़की में 196 किमी पाइप लाइन, 56 किमी सीवर नेटवर्क का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। बैठक में प्रमुख सचिव वित्त राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव सिंचाई आनंद वर्द्धन, सचिव शहरी विकास राधिका झा, सचिव पेयजल अरविंद सिंह हयांकी, परियोजना निदेशक बीएस मनराल, अपर सचिव वित्त एलएन पंत आदि वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।