1971 की लड़ाई याद रखे इस्लामाबाद: वेंकैया नायडू

नई दिल्ली। वेंकैया नायडू ने पाकिस्तान के प्रायोजित आतंकवाद पर हमला करते हुए एनडीए की तरफ से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेंकैया नायडू ने पाकिस्तान को नसीहत दी है। नायडू ने कहा कि इस्लामाबाद को 1971 की जंग को याद रखने की जरूरत है। नायडू ने कहा कि आतंक को बढ़ावा देने से पाकिस्तान को कुछ नहीं मिलेगा।

1971 war, venkaiah naidu, warn, pakistan, nda, Vice President
venkaiah naidu

बता दें कि करगिल पराक्रम परेड को संबोधित करते हुए नायडू ने कहा कि आतंकवाद मानवता का दुश्मन है। इसका कोई धर्म नहीं होता और दुर्भाग्य से यह पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी बन चुका है। नायडू ने कहा कि हमारे पड़ोसी को समझना चाहिए कि आतंकवाद को मदद और बढ़ावा देने से उसे कोई फायदा नहीं होगा। उन्हें याद रखना चाहिए कि 1971 में क्या हुआ था। उन्हें अपने देश पर ध्यान देना चाहिए और वहां शांति बनाए रखना चाहिए। आतंकवाद मानवता का दुश्मन है। इसका कोई धर्म नहीं होता। पाकिस्तान आतंकवाद और मजहब का घालमेल कर रहा है। दुर्भाग्य से यह पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी है।

साथ ही एनडीए की तरफ से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार नायडू ने आगे कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और इसका एक इंच भी किसी को लेने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हम शांतिप्रिय लोग हैं, हमने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और यह हमारी विशेषता है। हम युद्ध नहीं चाहते, हम टकराव नहीं चाहते, हम हिंसा नहीं चाहते। हम शांति चाहते हैं, हम पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध भी चाहते हैं लेकिन उन्हें भी ऐसा करना होगा। उन्हें याद रखना चाहिए कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और उसका एक इंच भी, यहां तक कि PoK भी किसी को लेने नहीं दिया जाएगा।