खत्म हो जाएगा रीगल का अस्तित्व, ऋषि कपूर ने शेयर की यादें

नई दिल्ली। दिल्ली में स्थित आठ दशक पुराना सिनेमाघर रीगल शुक्रवार को हमेशा के लिए बंद हो जाएगा। इस थ्रिएटर में आखरी फिल्म दिवंगत अभिनेता राजकुमार की मेरा नाम जोकर और संगम दिखाई जाने वाली है जिसके बाद इस पर्दे को दमेशा के लिए गिरा दिया जाएगा। कनॉट प्लेस सन 1931 में बनकर तैयार हुए रीगल के मालिकों में से एक विशाल चौधरी ने बताया कि प्रशंसकों के अनुरोध के बाद ही उन्होंने राजकपूर की फिल्में दिखाने का निर्णय लिया है।

 

इस सिनेमाघर के बंद होने को लेकर बाॅलीवुड के बीते जमाने के सुपरहीरो ऋषि कपूर ने सोशल नेटवर्किंग साइट पर ट्वीट कर अपनी यादें साझा की। उनहोंने लिखा कि ये एक ऐसी जगह है जहां कपूर की सारी फिल्मे और काम दिखाया गया। यही वो वो जगह है जहां बाॅबी का प्रीमियर हुआ था। थैंक यू।

विशाल के अनुसार प्रशंसकों के अनुरोध पर हमने अंतिम दिन राजकपूर की फिल्म मेरा नाम जोकर और संगम दिखाने का निर्णय लिया।
उन्होंने बताया कि रीगल का पृथ्वीराज कपूर और उनके बेटे राजकपूर दोनों से गहरा संबध रहा है। पृथ्वीराज कपूर ने रीगल में अपने सभी नाटकों का मंचन किया और राजकूपर ने यहां अपनी सभी फिल्मों का प्रीमियर किया।

फिलहाल बुधवार को रीगल में अनुष्का शर्मा की फिल्म फिल्लौरी दिखाई गई। शाम में यहां मेरा नाम जोकर और रात में संगम दिखाई जाएगी।
बता दें कि थियेटर मालिकों ने इसे मल्टीप्लेक्स बनाने का निर्णय लिया है लेकिन विशाल का कहना कि इस पर अभी बातचीत चल रही है तथा इसका नवीनीकरण करने में लगभग एक साल का वक्त लग सकता है। विशाल के अनुसार इसे 60 प्रतिशत मंजूरी मिल गई है लेकिन किसी भी मल्टीप्लेक्स के साथ करार नहीं हुआ है। इससे पहले दिल्ली-6 के गोलचा सिनेमा पर भी ताला लग चुका है।