संसदीय समिति के समक्ष अगले माह पेश हो सकते हैं आरबीआई प्रमुख

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल नोटबंदी पर एक ब्रीफिंग के लिए अगले महीने संसद की वित्तीय मामलों की समिति के समक्ष उपस्थित हो सकते हैं। जानकार सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। इससे पहले पटेल गुरुवार को समिति के समक्ष प्रतिवेदन जमा करने वाले थे। लेकिन समिति ने महसूस किया कि उन्हें पहले वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से बात करने की जरूरत है।

urjit-patel

सूत्रों ने कहा कि पटेल को 18 जनवरी को बुलाया जा सकता है। समिति के एक सदस्य ने आईएएनएस से कहा, आरबीआई के गवर्नर को बुधवार को बताया गया था कि हम उन्हें बाद में बुलाएंगे। समिति पहले वित्त मंत्रालय के अधिकारियों तथा अन्य अधिकारियों से बातचीत करेगी। समिति ने गुरुवार को आर्थिक विशेषज्ञों से बातचीत की।

सदस्य ने कहा, इसके बाद, हम वित्त मंत्रालय तथा सीबीडीटी (केंद्रीय प्रत्यक्ष कर समिति) के अधिकारियों को बुला रहे हैं। पैनल आठ नवंबर को की गई नोटबंदी के वक्त चलन में मौजूद 500 रुपये तथा 1,000 रुपये की कुल रकम तथा तब से लेकर अब तक बाजार में आपूर्ति की गई तरलता के बारे में स्पष्टीकरण मांग सकती है।