सबको पीछे छोड़ रवि शास्त्री ने संभाली भारतीय टीम के कोच की कमान

नई दिल्ली। अनिल कुंबले के कोच पद से इस्तीफा दिये के बाद से ही भारतीय टीम के कोच को लेकर अटकलें थी कि आखिर कौन भारतीय टीम के कोच पद की कमान संभालेगा। कोच पद के लिए पांच दिग्गज क्रिकेटरों रवि शास्त्री, वीरेंद्र सहवाग, रिचर्ड पायबस, लालचंद राजपूत और टॉम मूडी ने आवेदन किया था। जिसमें रवि शास्त्री सबसे आगे थे। रवि शास्त्री इस दौड़ में पहले से ही सबसे आगे रहे हैं और जीत भी गए है। रवि शास्त्री को दो साल के लिए भारतीय टीम का कोच बनाया गया है। शास्त्री वर्ल्‍ड 2019 तक भारतीय टीम के कोच की कमान संभालेंगे।

बता दें कि अनिल कुंबले के कोच पद छेड़ने के बाद से ही नए कोच की खोज शुरू हो गई थी और इस दौड़ में पांच दिग्गज क्रिकेटर शामिल थे जिनमें शास्त्री ने बाजी मारी और कोच बन गए। घोषणा से पहले पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की तीन सदस्यीय सीएसी ने सोमवार को कोच चयन को नाटकीय मोड़ देते हुए अपना फैसला रोक लिया था और कहा था कि वह टीम के कप्तान विराट कोहली से बात करने के बाद कोच के नाम का ऐलान करेगी। कोच पद के लिए सीएसी ने बीते सोमवार को पांच लोगों के इंटरव्यू लिए थे। इन पांच लोगों में रवि शास्त्री, वीरेंद्र सहवाग, रिचर्ड पायबस, लालचंद राजपूत और टॉम मूडी शामिल थे।

वहीं गांगुली ने बीते सोमवार को कोच पद के लिए इंटरव्यू लेने के बाद कहा था कि हमने फैसला किया है कि हम कुछ समय के लिए कोच पद के नाम की घोषणा को रोकेंगे। हमें इसके लिए कुछ और दिनों की जरूरत है और साथ ही हम कुछ संबंधित लोगों से बात करना चाहते हैं। इसके बाद हम अंतिम फैसला लेते हुए कोच के नाम का ऐलान करेंगे। हम इस समय किसी भी तरह की जल्दबाजी में नहीं हैं।

गौरतलब है कि अनिल कुंबले ने कप्तान कोहली से मतभेद की बात स्वीकार करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनका कार्यकाल 18 जून को संपन्न हुए आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी तक का था, बोर्ड ने विंडीज दौरे तक उनके कार्यकाल को विस्तार दिया था, लेकिन, कुंबले ने अचानक इस्तीफा दे दिया और विंडीज दौरे पर भारतीय टीम के साथ नहीं गए।