नीतीश कुमार पहले तेजस्वी को बाहर करने पर फैसला करें: रविशंकर

पटना। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत उनके परिजनों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अब तय करना है कि वे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को हटाना चाहते हैं या नहीं? बिहार में चल रही सियासी उठापटक पर रवि शंकर प्रसाद ने भाजपा और जदयू के बीच किसी तरह की खिचड़ी पकने की अटकलों को खारिज करते हुए एक निजी कार्यक्रम में दिल्ली में कहा कि ‘खिचड़ी पक रही है या नहीं, अभी कुछ कह नहीं सकते। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने भाजपा को छोड़ा था, भाजपा ने उन्हें नहीं छोड़ा था इसलिए इस मामले में भी फैसला उन्हें ही करना होगा।

Ravi Shankar Prasad, BJP, Nitish Kumar, RJD, son, party, patna, bihar
Ravi Shankar Prasad

भाजपा नेता ने कहा कि तेजस्वी प्रकरण पर मूल फैसला नीतीश कुमार को करना है कि भ्रष्ट उपमुख्यमंत्री को साथ में रखकर अपनी सरकार कब तक चलाएंगे जीतनराम मांझी से नीतीश कुमार ने दो घंटे के अन्दर इस्तीफा लिया था और इसी तरह रामाधार सिंह और दूसरे मंत्रियों को भी हटाया था। तेजस्वी यादव को पद छोड़ने के लिए नीतीश कुमार की ओर से चार दिनों का समय दिये जाने की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा 4 दिन तो क्या, 40 दिन सब्र कर लेग। अब जब लालू यादव ने कह दिया है कि तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे तो देश की राजनीति अब नैतिकता की ओर बढ़ रही है।

कानून मंत्री ने नीतीश कुमार को राष्ट्रपति चुनाव, जीएसटी और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे मुद्दों पर समर्थन के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने देशहित में फैसला किया। नीतीश कुमार के साथ भाजपा के दुबारा मिलने की सभावना पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नीतीश कुमार वाजपेयी सरकार में रेल मंत्री थे और भाजपा के साथ 13 साल शासन में रहे | नीतीश कुमार 17 साल एनडीए में रहे हैं | भाजपा नेता ने नीतीश कुमार से जानना चाहा कि वे ईमानदारी, सुशासन के प्रतिमूर्ति हैं, तो तेजस्वी पर क्यों खामोश हैं?

लालू प्रसाद द्वारा लगाए जा रहे आरोप कि उन्हें और उनके परिवार को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्ष के नेताओं जैसे मायावती, मुलायम सिंह, सोनिया गांधी, ममता और कनिमोझी को एकजुट कर रहे हैं, रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि यह महागठबंधन नीति आधारित नहीं है और ये डर का महागठबंधन है। कानून मंत्री ने सीबीआई और अन्य एजेंसियों के आरोपों का हवाला देते हुए कहा कि कैसे रेलवे के रांची और पुरी के दो होटल को एक निजी होटल मालिक को दे दिया और बदले में पटना में 3.5 एकड़ की बेशकीमती जमीन पर 700 करोड़ का शॉपिंग मॉल बनाया जाने लगा।

उन्होंने लालू के बेटे तेजस्वी यादव, बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार से भी दिल्ली के बिजवासन और सैनिक फॉर्म में जमीन अधिगृहित करने पर सफाई मागते हुए कहा कि लालू यादव को मंत्री पद मिला था, लूट का लाइसेंस नहीं दिया गया था| लालू यादव की लूट-खसोट अब खुल रही है। रवि शंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि जिस दिन पुरी और रांची में स्थित होटलों को एक प्राइवेट होटल मालिक को देने का रेलवे लाइसेंस जारी हुआ, उसी दिन लालू यादव के मंत्रिमंडल में शामिल एक मंत्री की पत्नी के नाम पटना में जमीन का ट्रांसफर हुआ। उन्होंने कहा कि वही जमीन 4-5 साल बाद एक ऐसी कंपनी को ट्रांसफर की गई जिसमें तेजस्वी और लालू की पत्नी राबड़ी डायरेक्टर हैं। रविशंकर ने सवाल किया कि कैसे गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर करने वाले एक रेलवे कर्मचारी की 80 लाख रुपये की जमीन को लालू के रिश्तेदार को नौकरी के बदले में दी गई।

तेजस्वी यादव की उस दलील पर कि जब यह डील हुई तब वह एक बच्चे थे और उनकी मूंछें भी नहीं आई थीं, कानून मंत्री ने कहा कि देश का कानून अपराध में और छोटे-बड़े में फर्क नहीं करता। उन्होंने कहा कि गलत करने वाला चाहे किसी भी उम्र का हो। उसे जेल या रिमांड होम जाना ही होगा 1 रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि भाजपा के केंद्र की सरकार न तो किसी जांच पर दबाव बनाएगी और न ही रोकेगी, कानून अपना काम करेगा।