राशन कार्ड धारियों को दो महीने से नहीं मिला शक्कर और चना

जगदलपुर। जिले के दो लाख से ज्यादा राशन कार्ड धारियों को लगभग दो महीने से शक्कर और चना नहीं मिला हैं। इधर दुकानों में रखा हुआ चना मौसम के मार के चलते खराब होने की कगार पर आ गया है। शक्कर में भी नमी आ रही हैं। इधर खाद्य विभाग में भी पीडीएस सिस्टम के सॉफ्टवेयर में जरूरी जानकारी फीड करने की सुचना दी है।

बता दें कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के तहत राशन दुकानों में हर कार्ड धारकों को एक किलो शक्कर 17 रुपये की दर पर और पांच रुपये प्रति किलो के हिसाब से दो किलो चना दिया जाना है,। दो महीने से राशन कार्ड धारकों को चावल और नमक ही दिया जा रहा है जबकि दुकान में शक्कर और चना उपलब्ध होने के बाद भी नहीं देने की बात कहकर वे दुकान संचालक पर अपना गुस्सा उतार रहे हैं।

फिलहाल इस मामले में शासन को पत्र भेजा गया है, संचालक ने जानकारी दी कि चना-शक्कर का वितरण नहीं करने का आदेश आया था, लेकिन चना खराब न हो जिससे इसका वितरण किए जाने के संबंध में शासन को पत्र लिखा गया है। जल्द ही इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। 8 पीडीएस दुकान पहुंच विहीन इलाकों में है, बावजूद एक को छोड़ अन्य सभी दुकानों में नेटवर्क उपलब्ध होने पर टेबलेट के माध्यम से राशन का वितरण हो रहा है।

वहीं दरभा ब्लाक के कोलेंग और छिंदगुर, बास्तानार के सांगवेल और कुच्चेपाल तथा जगदलपुर ब्लाक के तिरिया, कावापाल, गुमलवाड़ा और चितलगुर में बारिश के वक्त राशन पहुंचना बड़ी समस्या होती है जिसके चलते यहां एक साथ राशन भेजा जाता है। इन दुकानों में भी 185 क्विंटल चना, 92 क्विंटल शक्कर जाम पड़ा है। जिले के राशन दुकानों में शक्कर और चना पिछले महीने के 15 तारीख के बाद । ज्यादातर राशन कार्ड धारक महीने के शुरुआत में ही चावल लेने के बाद दोबारा राशन दुकान तक नहीं पहुंचे, हालांकि जिन्हें खबर लगी वे अपने हिस्से का चना और शक्कर ले गए लेकिन 24 मई से सॉफ्टवेयर लॉक कर दिए जाने के बाद इसका वितरण भी बंद हो गया। इसके बाद 338 राशन दुकानों में जमा चना और शक्कर पीडीएस दुकान संचालकों के लिए सिरदर्द बना हुआ है।