जनता को ‘दंगल’ नहीं ‘मंगल’ चाहिएः राजनाथ सिंह

लखनऊ। विधानसभा चुनावों से पहले उत्तर प्रदेश की जनता को लुभाने के लिए केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह सोमवार को राजधानी लखनऊ पहुंचे यहां पर उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए राज्य सरकार पर निशाना साधा।

जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में आजकल दंगल चल रहा है, लेकिन प्रदेश की जनता को दंगल नहीं मंगल चाहिए। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है, लेकिन इसका विकास अभी तक नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि जिस सुशासन को समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने वनवास दे दिया है उसका भाजपा घर वापसी करेगी।

राजनाथ ने रमाबाई अम्बेडर मैदान में आयोजित परिवर्तन महारैली में कहा कि अपने राजनीतिक इतिहास में उन्होंने ऐसी भीड़ नहीं देखी। उन्होंने कहा कि जो हालात यूपी में पैदा हुए हैं, परिवर्तन रैली प्रदेश में उस परिवर्तन की बुनियाद रखने में सफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज भ्रष्टाचार के साथ कानून व्यवस्था के हालात भी बद से बदतर हैं।

नहीं मिला इंसाफ

सपा और बसपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सपा-बसपा सरकारों ने किसानों, व्यापारियों के साथ इंसाफ नहीं किया। किसानों के धान और गेहूं की खरीद भी सरकार नहीं कर पा रही है। हालत यह है कि किसान औने-पौने दामों पर अपनी फसल बेचने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि वहीं इस बार केन्द्र सरकार के पर्याप्त मात्रा में यूरिया भेजने के कारण किसानों को खाद के लिए लाइन नहीं लगानी पड़ी। राजनाथ ने कहा कि इसी तरह गन्ना किसानों के लिए केन्द्र सरकार ने 06 हजार करोड़ रूपया मुहैया कराया, तब जाकर किसानों का भुगतान हो पाया। उन्होंने कहा कि अभी भी ढाई हजार करोड़ बकाया हैं, लेकिन प्रदेश सरकार चुप्पी साधे हुए है।

राजनाथ ने समाजवादी सरकार पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को भी प्रभावी तरीके से लागू नहीं करने का आरोप लगाया। वहीं उन्होंने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अन्तर्गत गरीब महिलाओं को रसोई गैस दिए जाने को लेकर प्रधानमंत्री का धन्यवाद दिया। उन्होंने नोटबन्दी को राष्ट्रहित में बताते हुए कहा कि यह कालेधन के खिलाफ मुहिम है।

परिवर्तन करना है कोशिश

राजनाथ ने जहां यूपी सरकार में हुई भर्तियों पर सवाल उठाये और पुलिस भर्ती को लेकर निशाना साधा और कहा कि इसमें केवल 2-3 जिलों के लोगों का चयन हुआ। वहीं उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने फोर्थग्रेड के लिए इंटरव्यू की व्यवस्था खत्म कर दी, अब कोई माई का लाल भ्रष्टाचार नहीं कर पाएगा। पुलिस कांस्टेबल की भर्तियों में इंटरव्यू नहीं होगा, अब अभ्यर्थी अपने अंक पत्र खुद ही सत्यापित कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा बसपा सरकारों में मिट्टी के तेल, चीनी और सिलेण्डर की लाइन लगी, हम इन लाइनों को खत्म करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम लोग केवल सत्ता परिवर्तन नहीं करना चाहते हैं, हम व्यवस्था परिवर्तन करना चाहते हैं।