रजनीकांत कलयुग के दुर्योधन, मैं कर्ण : मोहन बाबू

चेन्नई। दक्षिण भारतीय फिल्मों के दिग्गज अभिनेता एम. मोहन बाबू लंबे समय बाद अपने मित्र रजनीकांत से मिलकर बेहद खुश हैं। उन्होंने रजनीकांत को कलयुग का दुर्योधन तथा खुद को कर्ण बताया। मोहन बाबू अपने घर पर पुराने मित्र से मिले। उन्होंने इसकी एक तस्वीर भी ट्विटर पर साझा की और लिखा, “अपने सबसे अच्छे दोस्त से मिलकर अच्छा लगा। वह राजा की तरह दिखते हैं। वह इस कलयुग के दुर्योधन और मैं कर्ण हूं।”

mohan babau

मोहन बाबू और रजनीकांत दशकों से मित्र हैं। दोनों ने 1995 में तेलुगू फिल्म ‘पेदरयूदु’ में साथ काम किया था।