राजस्थान में मंत्री ने कहा- सेना पर बयान देने वालों की बोटी-बोटी काट दी जाएं

राज्स्थान। राजस्थान के मंत्री राजकुमार रिणवा का कहना है कि सेना की आलोचना करने वाले नेताओं के खिलाफ संविधान में सख्त कानून बनाने की आवश्यकता है। उनका कहना है कि हमारे जो नेता सेना पर तथा राष्ट्र की रक्षा करने वालों पर बयान देते हैं उनके खिलाफ ऐसे नियम बनाने की जरूरत है जिससे उनकी बोटी-बोटी काट दी जाए। उन्होंने सेना की तारीफ करते हुए कहा है कि सेना के जवान किसी भी मौसम में देश की सुरक्षा करते हैं। उन्होंने कहा है कि हमारे सैनिक 50-50 डिग्री सेल्सियस में काम करते हैं। उन्होंने कहा है कि सेना के जवान 0 डिग्री टेम्प्रेचर में भी काम करते हैं। और उनके प्रति जो बयान देते हैं यह अच्छी बात नहीं है।

उन्होंने कहा है कि यह काफी दुर्भाग्य की बात है, जो सैनिक देश की सुरक्षा के लिए दिन रात काम करते हैं, उनपर नेता गलत गलत बयान देते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे राजनेता सैनिकों के लिए ऐसे बयान देते हैं यह अच्छी बात नहीं है। उन्होंने कहा है कि ऐसे लोगों पर जल्द ही कार्रवाई होनी चाहिए और ऐसे नेताओं के लिए संविधान में ऐसा कानून होना चाहिए जिससे उनकी बोटी बोटी काट दी जाए। उन्होंने कहा कि सेना पर कोई भी गलत बयान दे तो संविधान में उसके लिए ऐसा कानून होना चाहिए जिससे उसे 5 मिनट के अंदर ही खत्म कर दिया जाए। और उनपर कोई भी केस ना चले।

उन्होंने कहा कि यह गलत बात है कि सेना कठिन परिस्थितियों में काम करती है और देश के नेता उन्हें दोषी मानते हैं। आपको याद दिला दे कि अभी कुछ दिनों पहले ही उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान ने सेना पर एक विवादित बयान दिया था जिसके बाद उन्हें चारों तरफ से घेरा जाने लग गया था। उन्होंने कहा था कि कश्मीर में महिलाओं ने सैनिकों के अंग काट लिए और असम तथा झारखंड में भी महिलाओं ने सैनिकों को पीटा है। उन्होंने कहा था कि मोदी राज में देश अपनी राह से भटक गया है।