रिमांड के खिलाफ दायर याचिका को राजस्थान कोर्ट ने किया खारिज

सुर्खियों में चल रहा भंवरी देवी अपहरण और हत्याकांड में आरोपी इंद्रा विश्नोई को बड़ा झटका लगा है, हाईकोर्ट ने इंद्रा विश्नोई की याचिका को खारिज कर दिया है। इंद्रा विश्नोई ने बताया की उनकी मानसिक स्थिति ठीक नही है। अगर इस स्थिति में उन्हें रिमांड पर लिया जाऐगा तो उनकी हालत बिगड़ने की आशंका है।

मानसिक हालत ठीक ना होने के कारण इस वक्त में उन्हें सीबीआई रिमांड पर ना लिआ जाए। इसके लिए उन्होंने अपने वकीलों द्वारा कोर्ट में याचिका दायर की थी और उनके रिमांड को खत्म करा जाए। आज पुलिस और सीबीआई के अधिकारी इंद्रा ,सहीराम और सोहनलाल तीनों को एक साथ में बिठाकर भंवरी देवी हत्याकांड के केस में पुछताछ करेंगे लेकिन इससे पहले भी तीनो के साथ एक साथ पूछताछ करी गई है। सीबीआई अधिकारियों ने बताया है की इंद्रा पूछताछ में साथ नहीं दे रही हैं।

सीबीआई अधिकारियों ने इस के बारे में कोर्ट को जानकारी दे चुके है। वहीं शुक्रवार को महिपाल मलखान और भंवरी के पति अमरचंद को जौधपुर कोर्ट में पेश किया है। जौधपुर कोर्ट में इन लोगों को पेश करने पर चश्मदीद गवाह के बयान होने थे लेकिन इसी दौरान गवाह के सही वक्त पर कोर्ट ना पहुंचने पर सुनवाई को टाल दि गयी। सात दिनों के सीबीआई रिमांड पर चल रही इंद्रा विश्नोई इस पूरे केस से दूर-दूर अपना वास्ता होने से इनकार कर रही है।