समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर होगा दोहरीकरण, यातायात होगा आसान

पटना। रेल मंत्रालय ने बिहार के समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड में रेल यतायात को और अच्छा बनाने के लिए दोहरीकरण करने का निर्णय लिया है।दरभंगा से लोक सभा सांसद कीर्ति झा आजाद ने रविवार (16-4-17) को रेल मंत्रालय के निर्णय की जानकारी देते हुए यहां बताया कि रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु इस खंड के दोहरीकरण का काम आगामी 17 अप्रैल को छपरा कचहरी स्टेशन से रिमोट के जरिए करेंगे।

इसके साथ ही कहा कि दोहरीकरण का कार्य पूरा होने से मिथिलांचल के लोगों का रेल यातायात आसान हो जाएगा। इस परियोजना को जल्द पूरा कराने का वह प्रयास करेंगे। वहीं कीर्ति आजाद ने कहा कि उद्घाटन कार्यक्रम में मिथिलांचल की लंबित विभिन्न परियोजनाओं के साथ इस क्षेत्र की जनता की समस्याओं को देखते हुए कई मांगें रेलमंत्री के समक्ष रखी जाएगी। लोहना-मुक्तापुर, मधुबनी-बेनीपट्टी-सीतामढ़ी और जयनगर-निर्मली नई रेल परियोजनाओं की मंजूरी बेहज जरुरी है।

लहेरियासराय-मुजफ्फरपुर नई रेल लाईन, सकरी-हसनपुर रेल लाईन इस वित्तीय वर्ष में पूरा करने की स्थानीय लोगों की मांग का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि मिथिलांचल रेल भर्ती बोर्ड का गठन कर उसका मुख्यालय दरभंगा करने की भी मांग रेल मंत्री से की जायेगी। सांसद ने कहा कि इन दिनों दरभंगा के लोगों को सड़क जाम से मुक्ति दिलाने के लिए दोनार गुमटी, म्युजियम गुमटी, कंगवा गुमटी, बेला गुमटी और लहेरियासराय चट्टी गुमटी पर पहले से स्वीकृत आर.ओ.बी. के निर्माण यथाशीघ्र कराने की तरफ भी रेल मंत्री का ध्यान उद्घाटन कार्यक्रम में किया जाएगा।